Movie prime
बिहार में जाति आधारित जनगणना के बाद उठने लगी जनसंख्या नियंत्रण कानून लाने की मांग
 

बिहार में नीतीश कैबिनेट ने जाति आधारित जनगणना को फ़रवरी तक कराए जाने का लक्ष रखा है. साथ ही इसके लिए 500 करोड़ रुपए की राशि भी मंजूर कर दी गई.  जातिगत जनगणना के मसले पर केंद्र सरकार ने भले ही देश में जातीय जनगणना को खारिज कर दिया हो लेकिन बीजेपी ने बिहार में इसका समर्थन किया. वहीं दूसरी तरफ अब जनसंख्या नियंत्रण कानून  लाने की मांग शुरू हो गई. जी हां ये मांग कोई और नहीं खुद बीजेपी के मंत्री कर रहे है. 

दलगत राजनीति से ऊपर नीरज कुमार सिंह बबलू - Fame India Magazine

आपको बता दे कि बीजेपी के मंत्री नीरज कुमार सिंह बबलू ने साफ कहा है कि जातीय जनगणना तो ठीक है लेकिन, अब बिहार में जनसंख्या विस्फोट को रोकने के लिए जनसंख्या नियंत्रण कानून लाने की जरूरत है. बिहार सरकार के मंत्री ने इस बात पर जोर दिया कि यह बेहद जरूरी है और इस कानून को लाए बिना बिहार का विकास संभव नहीं है.

Minister Neeraj Kumar Bablu Gave A Gift To The People Of The Area During  The Corona Crisis, Said - Will Not Let The Problem Happen ANN | मंत्री नीरज  कुमार बबलू ने 

इतना ही नहीं नीरज कुमार बबलू ने आगे कहा कि, बिहार सरकार लगातार सड़क के चौड़ीकरण का काम कर रही है, नए स्कूल और अस्पताल बनाए जा रहे हैं, लेकिन फिर भी इन जगहों से भीड़ कम होने का नाम नहीं ले रही है. उन्होंने कहा कि ऐसे हालात में लोगों के बीच मारामारी की स्थिति बनी रहेगी और इसीलिए बिहार में जनसंख्या नियंत्रण कानून बनाए जाने की जरुरत है.