Movie prime
HAM पार्टी की मांग, झारखंड की तर्ज पर बिहार में भी हो अधिकारियों पर कार्रवाई
 

प्रवर्तन निदेशालय ने शुक्रवार को बिहार झारखंड में बड़ी कार्रवाई करते हुए सीनियर आईएएस और झारखंड की खनन व उद्योग सचिव पूजा सिंघल के कई ठिकानों पर छापेमारी की. पूजा और उनके करीबियों के दो दर्जन ठिकानों पर एक साथ छापेमारी की गई. छापेमारी की प्रक्रिया पूरे 14 घंटे  से ऊपर तक चली. इतना ही नहीं इस छापेमारी में पूजा सिंघल व उनके करीबियों के 150 करोड़ के निवेश संबंधी दस्तावेज भी प्रवर्तन निदेशालय के हाथ लगे. वहीं अब इस मामले को लेकर बिहार में भी सियासत शुरू हो गई हैं. जी हां जीतन राम मांझी की पार्टी हिन्दुस्तानी आवाम मोर्चा ने बिहार में भी भ्रष्टाचार में लिप्त अधिकारियों पर सख्त कार्रवाई करने की मांग की है.

Bihar Ex-Chief Minister Jitan Ram Manjhi Faces Backlash From Brahmins For  Remarks Against Community

आपको बता दें कि हिंदुस्तानी आवाम मोर्चा के राष्ट्रीय प्रवक्ता दानिश रिजवान ने कहा है कि झारखंड की घन कुबेर आईएएस अधिकारी पूजा सिंघल पर तो कार्रवाई हो गई लेकिन बिहार में धन कुबेर आईएएस अधिकारी पर अभी तक कार्रवाई नहीं हो सकी है. दानिश रिजवान ने बिहार सरकार और ED से मांग की है कि बिहार कैडर के 2012 बैच के एक आईएएस अधिकारी और उनके पिता के खिलाफ कार्रवाई की जाइए. उन्होंने आरोप लगाया है कि आईएएस बेटे और उसके बाप ने मिलकर अकुत संपत्ति बनाई है.

HAM National Spokesperson Danish Rizwan Said On Caste Census Jitan Ram  Manjhi has knowledge of society - जातीय जनगणना पर HAM प्रवक्ता बोले- मांझी  की उम्र ज्यादा इसलिए है ज्ञान

दानिश रिजवान ने आरोप लगाया है कि उक्त अधिकारी ने डीएम के पद पर रहते हुए मठ, मंदिर और चर्च की जमीन को अवैध रूप से बेचवा कर अरबो रुपए की संपत्ति अर्जित की है. उन्होंने बिहार सरकार से मांग की है कि झारखंड की तर्ज पर बिहार कैडर के 2012 बैच के आईएएस अधिकारी और उनके पिता के ऊपर अविलंब कार्रवाई की जाए.

Read more at: https://newshaat.com/national-news/ED-raids-20-locations-including-Jharkhand-IAS-officer-in-c/cid7338194.htm