Movie prime

नहाय खाय के साथ चार दिवसीय छठ महापर्व की आज से हुई शुरुआत

 

चार दिवसीय छठ महापर्व की शुरुआत आज 28 अक्टूबर को नहाय खाय के साथ शुरू हो गया. आज के दिन व्रती सुबह गंगा नदी या घर में पवित्र स्नान कर पूरे घर की सफाई करेंगी और गंगा जल का छिड़काव किया जाएगा. इस व्रत में पवित्रता का खास ख्याल रखा जाता है. 

नहाए खाए के साथ छठ महापर्व शुरू, CM हेमंत सोरेन ने किया ट्वीट

छठ पूजा में व्रती 36 घंटे का निर्जला उपवास रखती हैं, इस कारण यह व्रत काफी कठिन व्रत माना जाता है. पूजा की शुरुआत आज नहाए-खाए के साथ शुरू हो गई. जिसमें व्रती गंगा स्नान कर गंगाजल या किसी भी नदी के पवित्र जल से प्रसाद बनाएंगी, जिसमें सेंधा नमक का प्रयोग किया जााता है. पूरी पवित्रता के साथ लौकी और चने की दाल की सब्जी और चावल का विशेष तौर पर प्रसाद बनाया जाता है. व्रती के प्रसाद ग्रहण करने के बाद घर के अन्य सदस्य प्रसाद ग्रहण करते हैं. 

chhath puja 2021 nahay khaye prasad benefits importance of supe eikh thekua  mausami phal in chhati mayya pujan sry | Chhath Puja 2021: छठ पूजा में नहाए  खाए का प्रसाद बढ़ाता है

वैसे हिंदू पंचांग के मुताबिक,हर साल कार्तिक मास की शुक्ल पक्ष की चतुर्थी तिथि के दिन नहाय-खाय के साथ छठ की शुरुआत होती है. इस व्रत में षष्ठी मैया और सूर्यदेव की पूजा की जाती है. कार्तिक माह की चतुर्थी तिथि को पहले दिन नहाय खाय, दूसरे दिन खरना, तीसरे दिन डूबते सूर्य और चौथे दिन उगते सूर्य को अर्घ्य देकर छठ पर्व संपन्न होता है. 

Chhath Puja 2021: अस्त होते सूर्य को दिया गया पहला अर्घ्य, जानें महत्व |  Chhath Puja 2021 First Arghya Today: Shubh Muhurat, Puja samagri and  significance - Hindi Oneindia