Movie prime
अलवर में 300 साल पुराने तीन मंदिर पर चला बुलडोजर, भाजपा ने कहा- यही है कांग्रेस का सेक्युलरिज्म
 

राजस्थान के अलवर जिले में सराय मोहल्ला स्थित 300 साल पुराने शिव मंदिर पर बुलडोजर चलाया गया. वैसे बता दे मंदिर तोड़े जाने की वीडियो और तस्वीरें सोशल मीडिया पर काफी वायरल हो रही हैं. इस घटना के बाद भाजपा कांग्रेस सरकार पर हमलावर हो गई है. जी हां भाजपा के आईटी सेल के चीफ अमित मालवीय ने इस मामले को लेकर कांग्रेस को घेरा है. उन्होंने कहा कि करौली और जहांगीरपुरी पर आंसू बहाना और हिंदुओं की आस्था को ठेस पहुंचाना, यही कांग्रेस का सेक्युलरिजम है.

आपको बता दे कि अमित मालवीय ने इसको लेकर ट्वीट किया। उन्होंने अपने ट्वीट में लिखा कि,  ''राजस्थान के अलवर में विकास के नाम पर तोड़ा गया 300 साल पुराना शिव मंदिर… करौली और जहांगीरपुरी पर आंसू बहाना और हिंदुओं की आस्था को ठेस पहुँचना - यही है कांग्रेस का सेक्युलरिज़म.

अगले ट्वीट में उन्होंने लिखा कि, 18 अप्रैल को राजस्थान के राजगढ़ कस्बे में बिना नोटिस प्रशासन ने 85 हिंदुओं के पक्के मकानों और दुकानों पर बुल्डोज़र चला दिया.

 

वहीं दूसरी तरफ राजस्थान के मंत्री प्रताप सिंह खाचरियावास का कहना है कि बीजेपी झूठ बोल रही है. राजगढ़ नगरीय निकाय बोर्ड का चेयरमैन बीजेपी का है. उन्हीं ने बोर्ड में प्रस्ताव लाकर चौड़ीकरण के लिए मंदिरों और घरों को गिराया है. उन्हीं के इशारे पर मंदिर को तोड़ा गया है. जबकि हमारा यानी कांग्रेस का विधायक इसका विरोध करता रह गया. 

दरअसल अलवर के राजगढ़ में तीन हिंदू मंदिरों को गिरा दिया गया. जी हां राजगढ़ प्रशासन ने 300 साल पुराने तीन मदिरों को गिरा दिया. इन मंदिरों में लगी भगवान शिव, हनुमान जी समेत अन्य देवी-देवताओं की मूर्तियों को खंडित कर दिया.  स्थानीय लोगों ने जब इसका विरोध किया तो पुलिस ने उन्हें वहां से हटा दिया.

अलवर में शिव मंदिर तोड़ा गया