Movie prime
AIIMS के डॉ. गुलेरिया की चेतावनी- प्रदूषण के कारण कोरोना के मामलों में हो सकता है इजाफा
 

दिवाली के बाद दिल्ली समेत कई राज्यों में प्रदूषण बढ़ गया है और वायु गुणवत्ता सूचकांक भी गंभीर और अति-गंभीर श्रेणी में चला गया है. बढ़ते प्रदूषण के खिलाफ अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान के निदेशक डॉ रणदीप गुलेरिया ने चेतावनी देते हुए कहा है कि प्रदूषण का बढ़ना कोरोना वायरस के मामलों में भी बढ़ोतरी कर सकता है.

आपको बता दे कि गुलेरिया ने कहा कि कुछ डाटा के अनुसार कोरोना वायरस प्रदूषण में अधिक देर तक रहता है. जिन इलाकों में प्रदूषण अधिक होता है वहां कोरोना की स्थिति गंभीर हो सकती है. एम्स निदेशक रणदीप गुलेरिया ने साथ ही कहा कि दिल्ली वायु प्रदूषण का सांस संबंधी विशेष रूप से फेफड़ों की बीमारियां, अस्थमा से पीड़ित लोगों पर बहुत अधिक प्रभाव पड़ता है. आगे गुलेरिया ने कहा कि, प्रदूषण से कोविड के और भी गंभीर मामले हो सकते हैं इसके लिए जरूरी है कि लोगों को मास्क पहनना चाहिए. मास्क से कोरोना और प्रदूषण दोनों से सुरक्षा में मदद मिलती है.

दिवाली के बाद दिल्ली समेत कई राज्यों में प्रदूषण बढ़ गया है और वायु गुणवत्ता सूचकांक भी गंभीर और अति-गंभीर श्रेणी में चला गया है. बढ़ते प्रदूषण के खिलाफ अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान के निदेशक डॉ रणदीप गुलेरिया ने चेतावनी देते हुए कहा है कि प्रदूषण का बढ़ना कोरोना वायरस के मामलों में भी बढ़ोतरी कर सकता है.