Movie prime
जेपी नड्डा का आरोप, कहा- PM मोदी का काफिला फंसा तो चन्नी ने फोन पर बात करने से इनकार कर दिया
 

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को आज बुधवार को पंजाब के फिरोजपुर में रैली करनी थी, लेकिन आखिरी मौके पर कार्यक्रम रद्द हो गया. वैसे कृषि कानून रद्द होने के बाद पीएम मोदी का यह पंजाब का पहला दौरा था, जब वे वहां के लोगों को संबोधित करते. वहीं बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा ने मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी पर गंभीर आरोप लगाए हैं. नड्डा ने दावा किया है कि जब पीएम मोदी का काफिला फंसा था चन्नी ने फोन पर बात करने और मुद्दे को सुलझाने से इनकार कर दिया. 

JP Nadda Birthday special: The Rise and rise of BJP national president

आपको बता दे कि जेपी नड्डा ने आगे लिखा, सबसे ज्यादा चिंता की बात ये है कि यह घटना पीएम मोदी की सुरक्षा में बड़ी चूक थी. पंजाब के प्रमुख सचिव और डीजीपी से एसपीजी को कहा गया था कि पीएम मोदी का रूट साफ है, इसके बावजूद वहां प्रदर्शनकारियों को जाने दिया गया. इससे भी बुरी बात ये है कि सीएम चन्नी ने फोन पर बात करने और मामले को सुलझाने से इनकार कर दिया. पंजाब की कांग्रेस सरकार द्वारा इस्तेमाल की जाने वाली यह रणनीति लोकतंत्र में विश्वास रखने वाले किसी भी व्यक्ति को पीड़ा देगी.

वैसे बता दे पीएम मोदी सुबह बठिंडा पहुंचे थे. फिर वहां से उनको हेलिकॉप्टर से हुसैनीवाला में राष्ट्रीय शहीद स्मारक जाना था. लेकिन बारिश और कम दृश्यता की वजह पहले पीएम को 20 मिनट इंतजार करना पड़ा. फिर आसमान साफ ना होता देख उन्होंने सड़क मार्ग से वहां जाने का फैसला किया. इसमें करीब 2 घंटे लगने थे. इसके बारे में पंजाब पुलिस के डीजीपी को बताकर आवश्यक सुरक्षा व्यवस्था की रजामंदी ली गई. 

वहीं जब PM मोदी का काफिला राष्ट्रीय शहीद स्मारक से 30 किलोमीटर दूर था तब रास्ते में एक फ्लाईओवर आया. वहां रास्ते को प्रदर्शनकारियों ने रोका हुआ था. उस फ्लाईओवर पर पीएम मोदी का काफिला 15-20 मिनट फंसा रहा. इसे गृह मंत्रालय ने पीएम की सुरक्षा में बड़ी चूक माना है. वहीं सुरक्षा में हुई इस चूक के बाद काफिले को वापस बठिंडा एयरपोर्ट की तरफ मोड़ लिया गया.