Movie prime
आरजेडी के प्रदेश अध्यक्ष जगदानंद सिंह के एक बयान ने कर दिया है प्रदेश की राजनीति को गर्म!
 

आरजेडी के बिहार प्रदेश अध्यक्ष जगदानंद सिंह के एक बयान ने प्रदेश की राजनीति को गर्म कर दिया है. ऐसे में उम्मीद की जा रही है कि आरजेडी अंदरखाने बिहार विधानसभा के नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव की 'ताजपोशी' की तैयारी में जुटी है. दरअसल, आरजेडी नेता जगदानंद सिंह ने बीजेपी और जेडीयू पर तंज कसते हुए कहा है कि जेडीयू और बीजेपी में एकता है कहां? एकता तो कभी थी ही नहीं. यह तो कुर्सी की लालच ने दोनों को एक जगह इकट्ठा करके रखा है. दोनों एक-एक पैर के हैं और एक-एक पैर से लंगड़ा हैं. ये लोग किसी तरह से एकजुट होकर चलने का प्रयास करते हैं. ना जेडीयू दोनों पैरों पर खड़ा हो सकता हैं और ना बीजेपी दोनों पैरों पर खड़ी रह सकती हैं.

नीतीश कुमार के सहयोग करने के बात पर उन्होंने कहा कि नीतीश सहयोग की चीज है क्या? ये तो जनता के लिए बिल्कुल ठुकराए जा चुके हैं. एक व्यक्ति के रूप में आए, सदस्य बन के रहना चाहते हैं तो हम लोग को कोई एतराज नहीं है, लेकिन मुख्यमंत्री की कुर्सी तेजस्वी के लिए जनता ने तय कर दिया है. जनता का माइंडेड नीतीश कुमार ने लूटा है, इसका वे प्रायश्चित करें जिसके लिए जनता ने जनादेश दिया था. इस पर इन्होंने दंगाइयों और उन्मादियों के कहने पर डकैती डाला है. नीतीश जनता से माफी मांगे और तेजस्वी को बैठाए जहां जनता का विश्वास था.

जगदानंद सिंह ने कहा कि अगर डॉक्टर लोहिया और कर्पूरी ठाकुर के सिद्धांतों पर चलते हैं,  लालू यादव के संघर्षों में साथ चले हैं तो वह आए. उनका स्वागत है. नीतीश कुमार के स्वागत पर जगदानंद सिंह ने कहा नीतीश कुमार अब हैं किस काम के जो उनका स्वागत किया जाए. उनको स्वागत करना है तेजस्वी यादव का. वह कब स्वागत करते हैं और  कुर्सी का लालच कब छोड़ेंगे यह उनको तय करना है.

बता दें, अभी पटना के फुलवारीशरीफ में PFI-SDPI की गतिविधियों की सघन जांच चल रही है। पाकिस्तान और अरब देशों से इनके तार जुड़े हैं ऐसा बताया जा रहा हैं. केंद्रीय जांच एजेंसी NIA को फुलवारी शरीफ मामले की तफ्तीश सौंप दी गई. गृह मंत्रालय ने इस बाबत नोटिस जारी कर दिया है. अब फुलवारी शरीफ मसले में PFI संस्था द्वारा संदिग्ध गतिविधियों और पाकिस्तान समेत कई अन्य देशों से जुड़े कनेक्शन के आरोपों की विस्तार से एनआईए तफ्तीश करेगी. जल्द ही एनआईए इस मामले को औपचारिक तौर पर दर्ज करके विस्तार से जांच में जुट जाएगी.

वहीँ जगदानंद सिंह से मीडिया जब ने फुलवारी शरीफ में बीते दिनों गजवा-ए-हिंद के नाम पर टेरर मॉड्यूल चलाने के आरोप में हुयी गिरफ्तारी के बारे में पूछा तब इस पर जगदानंद ने आरएसएस और हिंदुओं का नाम बतौर पाकिस्तानी एजेंट ले लिया. जगदानंद लालू यादव के बहुत करीबी नेता हैं. माना जाता है कि वो हमेशा पार्टी लाइन पर ही बात करते हैं.