Movie prime
गांगुली ने आदित्य वर्मा से लिया बिहार क्रिकेट पर फीडबैक, सुधारने खुद आएंगे पटना
 

बिहार क्रिकेट की स्थिति कैसे बेहतर हो? इस मुद्दे पर चर्चा करने के लिए बीसीसीआई अध्यक्ष सौरभ गांगुली ने सीएबी के पूर्व सचिव आदित्य वर्मा को अपने निवास स्थान कोलकाता बुलाया था. आदित्य वर्मा ने गांगुली से मिलकर बताया कि बिहार क्रिकेट के आपसी विवाद के चलते बिहार में क्रिकेट का विकास रुक गया है.

आदित्य वर्मा ने मुलाकात के बाद पत्रकारों को जानकारी देते हुए बताया कि इससे पहले 1 जून को बीसीसीआई के सचिव जय शाह से भी दिल्ली में बिहार क्रिकेट के विकास के ऊपर चर्चा हुई थी. वर्मा ने आगे कहा कि सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद बीसीसीआई के AGM में निर्णय हुआ कि 9 राज्यों को बीसीसीआई द्वारा आयोजित प्रथम श्रेणी का मैच खेलने का मौका मिलेगा। इसको देखते हुए 9 राज्यों के क्रिकेट के विकास के लिए बीसीसीआई द्वारा अपने अध्यक्ष, सचिव, कोषाध्यक्ष को जिम्मा दिया गया था. 

उन्होंने आगे कहा कि बिहार में क्रिकेट के विकास का जिम्मा सौरभ गांगुली को मिला था लेकिन बिहार क्रिकेट के आपसी झगड़े के कारण चाह कर भी बीसीसीआई अध्यक्ष कुछ भी नहीं कर सके जबकि उत्तर पूर्व के राज्यों में युवा सचिव जय शाह ने विकास की गति को तेज कर दिया है. 

आदित्य वर्मा ने बताया कि मेरी सभी बिंदुओं पर बीसीसीआई के अध्यक्ष सौरव गांगुली से चर्चा हुई और गांगुली ने मुझे भरोसा दिलाया कि अगले सीजन से पहले काम शुरू कर दिया जायेगा. इस सिलसिले में सौरभ गांगुली ने कहा कि बिहार क्रिकेट में सुधार के लिए जुलाई में उनका पटना में आगमन होगा. उन्होंने बताया कि इस दौरान खेल प्रेमियों तथा पूर्व और वर्तमान पदाधिकारियों से सहयोग ले कर बिहार क्रिकेट के विकास के लिए एक ब्लू प्रिंट तैयार किया जायेगा। गांगुली ने कहा कि उनकी पूरी कोशिश है कि अगले सीजन से पहले बिहार क्रिकेट के विकास हेतु जो भी आवश्यक कदम हैं, वो उठाये जाएंगे.

इधर आदित्य वर्मा ने कहा कि सुप्रीम कोर्ट के आदेश के आलोक में बिहार क्रिकेट ने अपने संविधान में सुप्रीम कोर्ट के फैसले पर संशोधन भी नहीं किया है. बीसीसीआई ने बिहार सरकार के सोसाइटी से भी पत्राचार के माध्यम से पूछ लिया है. ऐसे में बीसीसीआई खिलाड़ियों के लिए सब इंतजाम कर देता है. मैचों के दौरान सभी पहलुओं को ध्यान में रखते हुए बीसीसीआई एक खेलों के लिए खिलाडियों के विकास के लिए एक संचालन समिति बीसीसीआई के नेतृत्व मे बिहार के भी पूर्व अधिकारी, खिलाड़ियों को लेकर बनाई जा सकती है. 

वर्मा ने कहा, क्योंकि मेरा मानना है कि बिहार क्रिकेट के विवाद तथा निबंधन वाले मसले के हल होने तक बीसीसीआई के द्वारा गठित संचालन समिति के सदस्यों के साथ बिहार क्रिकेट के विकास पर फोकस करेगी. गांगुली से हुई मुलाकात से बात करते हुए वर्मा ने कहा कि सौरभ गांगुली ने एमपी वर्मा क्रिकेट प्रतियोगिता के लिए शुभकामना संदेश दिया. मैंने मोमेंटो के रूप मे सौरभ गांगुली को एक टीशर्ट दे कर सम्मानित किया. साथ ही साथ बिहार के खिलाड़ियों के लिए अपना आशीर्वाद देने को कहा. जिसपर सौरव गांगुली ने कहा कि बिहार मेरा पड़ोसी राज्य है और हमेशा रहेगा. इस दौरान गांगुली ने बिहार के क्रिकेटर  शकिबुल गनी के बारे में भी जानकारी ली.