पिता बनने पर 70 हजार की सहायता के साथ 6 महीने की छुट्टी भी देगी यह कंपनी

  • द्वारा

किसी कंपनी में पुरूष कर्मचारी को छुट्रटी मांगने के लिए कई बार सोचना पड़ता है. क्योंकि उसको इस बात का पता होता है कि बाॅस के केबिन में जाते ही उनका रियक्शन क्या होने वाला है. इसलिए ज्यादातर लोग अपनी नौकरी खोने के डर से कंपनी से जल्दी छुट्रटी लेना नही चाहते हैं. लेकिन एक कंपनी ऐसी है जिसे अपने महिला या पुरूष सभी कर्मचारी का ख्याल है.

बता दें कि जोमैटो के नाम से देश में लोप्रियता हासिल करने वाली फूड एग्रीगेटर कंपनी ने भारत में अपने पुरूष कर्मी के लिए भी 26 सप्ताह की पैटर्निटी लीव की घोषणा कर दी है. सरकार के नियमों के अनुसार किसी कंपनी में काम करने वाली महिला को अपने बच्चे के जन्म के बाद उनके देख भाल के लिए 6 महीने की छुट्रटी दी जाती है. किसी कंपनी में पहले यह सुविधा सिर्फ महिलाओं को ही दिया जाता था. लेकिन अब जोमैटो कंपनी में काम करने वाले पुरुष कर्मचारी को भी जो पिता बनते हैं उनको पैटर्निटी लीव का लाभ दिया जाएगा. साथ ही जोमैटो उनको छुट्टी पर रहने के बाद 70 जहार रूपये की सहायता भी करेगा.

कंपनी की यह नई पॉलिसी सेरोगेसी, एडॉप्शन और समलैंगिक पार्टनरों पर भी लागू होगीण. इस घोषणा के बाद जोमैटो के फाउंडर दीपिन्दर गोयल ने कहा है कि नए बच्चे का इस दुनिया में स्वागत करने को लेकर महिला और पुरुषों के लिए छुट्टियों की अलग-अलग व्यवस्था बहुत असंतुलित है. हमें लगता है कि आने वाले समय में पुरुषों और महिलाओं के लिए पैरंटल लीव पॉलिसी में लेश मात्र का भी अंतर नहीं होगाण. मालूम हो कि भारत से ज्यादा छुट्टी सिर्फ कनाडा और नॉर्वे में दी जाती है. कनाडा में 50 हफ्ते और नॉर्वे में 44 हफ्ते का अवकाश मिलता है.