Movie prime
मांझी की जीभ काटने वाले बयान पर BJP नेता निष्कासित, 15 दिनों के भीतर देना होगा स्पष्टीकरण
 

पूर्व मुख्यमंत्री और हिंदुस्तानी आवाम मोर्चा (हम) के प्रमुख जीतन राम मांझी की जुबान काटने वाले बयान के बाद भाजपा ने पार्टी नेता गजेंद्र झा को संगठन से बाहर का रास्ता दिखा दिया गया है। यही नहीं नेता से 15 दिनों के भीतर स्पष्टीकरण देने को भी कहा गया है। इस संबंध में मधुबनी के भाजपा जिलाध्यक्ष शंकर झा ने मीडिया से बातचीत में कहा कि मांझी के संदर्भ में गजेंद्र झा द्वारा दिया गया बयान अमर्यादित है और पार्टी अनुशासन के विपरीत है। इस कारण उन पर तत्काल प्रभाव से कार्रवाई की गई है। 

दरअसल, मांझी द्वारा ब्रह्मणों को लेकर दिए गए विवादित बयान पर गजेंद्र झा ने तीखी प्रतिक्रिया देते हुए कहा था कि जब ब्राम्हण जाग जाएगा तो उन्हें भागने के लिए जमीन कम पड़ जाएगी। उन्होंने ऐलान किया था कि कोई भी ब्राह्मण का बेटा अगर मांझी की जुबान काटकर उनके सामने रखेगा तो उसे इनाम स्वरूप ग्यारह लाख रुपये दिए जाएंगे। साथ ही उस शख्स का जीवन भर भरण पोषण भी उनके द्वारा किया जाएगा।

पीएम

वहीं दूसरी तरफ जीतन राम मांझी द्वारा ब्राह्मण समाज को लेकर विवादित बयान देने के बाद से सभी तरफ उनकी आलोचना हो रही है। इस सिलसिले में पैनोरमा ग्रुप के प्रबंध निदेशक सह समाजसेवी संजीव मिश्रा ने जीतन राम मांझी के बयान पर आक्रोश जताया है। उन्होंने कहा कि मांझी ने पूर्व में भी ऐसे बयान दिए हैं जिससे हिंदूओं की आस्था को ठेस पहुंची है। जीतन राम मांझी ने पूर्व में भगवान राम के अस्तित्व पर सवाल उठाया है। संजीव मिश्रा ने कहा कि मांझी को समय रहते सम्पूर्ण भारतवर्ष के हिन्दूओं एवं ब्राह्मण समाज से माफी मांगनी चाहिए। 

गौरतलब है कि पटना में आयोजित ‘भुइया मिलन समारोह’ में जीतन राम मांझी ने ब्राह्मणों पर आपत्तिनजक बयान दिया था। मांझी का यह विवादित बयान सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हुआ था। इसके बाद उनके इस बयान की सभी भर्त्सना कर रहे हैं। उनके इस विवादित बयान से कई लोगों को ठेस पहुंची है। हालांकि, बीते रोज मांझी ने अपने बयान के लिए सभी से माफी मांगी है। लेकिन फिर भी यह मामला शांत नहीं हो रहा है। 

भ्रष्ट अधिकारियों से मिले हुए थे EOU के दो इंस्पेक्टर- https://newshaat.com/bihar-local-news/two-inspectors-of-eou-met-with-corrupt-officials/cid6084602.htm