Movie prime
Exclusive Interview: चिराग पासवान ने CM के सात निश्चय को बताया भ्रष्टाचार का सबसे बड़ा अड्डा
 

बिहार की लोक जनशक्ति पार्टी ( रामविलास) के संस्थापक स्वर्गीय रामविलास पासवान को पद्म विभूषण से सम्मानित किया गया। इसे लेकर पार्टी में बेहद खुशी देखी जा रही है। वहीं न्यूज हाट से बात करते हुए चिराग पासवान ने भी इस पर अपनी प्रतिक्रिया दी है। न्यूज हाट को दिए इंटरव्यू में चिराग पासवान ने कहा कि वह बेहद खुश हैं, यकीनन यह उनके लिए गर्व का पल है। हालांकि, वह इस बात से थोड़े निराश हैं कि यह पुरस्कार लेने के लिए उनके पिता उनके बीच नहीं हैं। मालूम हो कि रामविलास पासवान को यह पुरस्कार मरणोपरांत मिला है। बता दें, बिहार की राजनीति में युवा चेहरों की कमी नहीं है। लोक जनशक्ति पार्टी (रामविलास) के अध्यक्ष चिराग पासवान भी इनमें से एक हैं। ऐसे में न्यूज हाट से बात करते हुए चिराग पासवान ने विभिन्न मुद्दों पर अपनी प्रतिक्रिया दी। चिराग पासवान ने जहां एक ओर अपने पिता के लिए भारत रत्न की मांग की। वहीं दूसरी ओर उन्होंने राज्य के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर जमकर निशाना साधा। 

पिता को भारत रत्न दिलाने की मांग की 

चिराग पासवान ने एक बार फिर से रामविलास पासवान को भारत रत्न देने की मांग की। उन्होंने कहा, " आने वाले दिनों में मेरी केंद्र सरकार से मांग है कि वह मेरे नेता को भारत के सर्वोच्च सम्मान भारत रत्न से सम्मानित करें। यह सम्मान भारत के ऐसे चुनिंदा महापुरुषों को दिया जाता है जिनका समाज के प्रति व देश के प्रति योगदान रहा हो। न सिर्फ बिहार बल्कि भारत की राजनीति में मेरे पिता का अमिट छाप रहा है। उन्होंने हमेशा गरीबों, दलितों और जरूरतमंदों के लिए काम किया है। " चिराग पासवान ने कहा कि रामविलास पासवान ने कई विभाग संभाले हैं। 

पार्टी को मजबूत करना है तो अकेले चलना होगा: चिराग 

वहीं इस सवाल पर कि लोजपा( रामविलास ) दिल्ली में एनडीए का हिस्सा है पर बिहार में नहीं चिराग पासवान ने कहा कि फिलहाल वह एकला चलो की रणनीति पर काम कर रहे हैं। वह और उनके पिता स्वर्गीय रामविलास पासवान भी यह चाहते थे कि उनकी पार्टी गठबंधन से अलग अपनी नई राह बनाए, राजनीति में अपने लिए जमीन तलाशे और बिहार के लोगों के लिए काम करे। चिराग ने कहा कि रामविलास पासवान जब बीमार चल रहे थे तब भी कई दफे उन्होंने चिराग को अकेले चुनाव लड़ने को कहा था। उन्होंने कहा, " गठबंधन की राजनीति में कहीं न कहीं आप समौझता करते करते जनता से और जमीनी स्तर से खुद को दूर कर लेते हैं।"  यह मेरे नेता की भी सोच रही है कि यदि आपको जमीन पर पार्टी के संगठन को खड़ा करना है तो आपको अकेले चलना होगा।

चिराग पासवान से बातचीत करते हुए वरिष्ठ पत्रकार कन्हैया भलारी
चिराग पासवान से बातचीत करते हुए वरिष्ठ पत्रकार कन्हैया भेलारी

गठबंधन में एक दौर था जब हमने 150 से ज्यादा सीटों पर चुनाव लड़ना शुरू किया था। सिमटते सिमटते हमलोग 75 सीटों पर आए, 2015 में 42 सीटों पर चुनाव लड़े और 2020 वाले चुनाव में तो यह नौबत आ गई थी कि हमलोगों को 15 सीट दिए जा रहे थे। ऐसे में अगली बार पार्टी के अस्तित्व को बचाने के लिए कोई विकल्प ही नहीं बचता हमारे पास। इसलिए पार्टी के अस्तित्व को बचाने के लिए और बिहार फस्ट और बिहारी फस्ट के संकल्प को पूरा करने के लिए हमने अकेले चलने का फैसला लिया। वहीं अपने ऊपर लगे इस आरोप पर कि 2020 में चिराग ने अकेले चुनाव लड़ने का फैसला इसलिए लिया क्योंकि एक रणनीति के तहत भाजपा ने उन्हें जदयू को कमजोर करने के लिए खड़ा किया था उन्होंने स्पष्ट कहा कि उन्हें नहीं पता कि यह बातें कहां से सामने आ रही है। वहीं अकेले चुनाव लड़ने की बात पर उन्होंने कहा कि 15 सीटों को लेकर स्वर्गीय रामविलास पासवान खुद राजी नहीं थे। मेरी लड़ाई संख्या से ज्यादा विजन को लेकर है।

सीएम को बताया जातिवादी

वहीं मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर निशाना साधते हुए चिराग ने कहा कि उन्हें कभी भी सात निश्चय योजना पर विश्वास नहीं था। मेरा हमेशा से मानना था कि यदि बिहार को बर्बाद करने में अगर सबसे बड़ा हाथ किसी नीति का रहा है तो वह है मुख्यमंत्री की सात निश्चय नीति का ही है। भ्रष्टाचार का सबसे बड़ा अड्डा है नीतीश कुमार का सात निश्चय। आने वाले समय में बिहार का इतिहास इस बात की गवाह रहेगा। चिराग ने कहा कि जब वह बिहार भ्रमण पर जाते हैं तो नल-जल योजना, सड़क योजना की त्रुटि को देखते हैं। इन योजनाओं के नाम पर गड़बड़ी ही गड़बड़ी है। वहीं उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री अगड़ा-पिछड़ा, जात-पात- धर्म-मजहब, दलित-महादलित की राजनीति करते हैं। चिराग ने कहा, " मुझे ताज्जुब है कि मेरे प्रदेश के मुख्यमंत्री इतनी जातिवादी सोच रखते हैं। "

नोट- प्रस्तुत आलेख चिराग पासवान के साथ वरिष्ठ पत्रकार कन्हैया भेलारी की बातचीत का अंश है 

मांझी के बाद कंगना पर भड़की लालू की बेटी, जानिए क्या कहा- https://newshaat.com/bihar-local-news/after-manjhi-lalus-daughter-got-angry-on-kangana-said-the/cid5742769.htm