Movie prime
A.N कॉलेज में आयोजित व्याख्यान में BPSC के पूर्व अध्यक्ष शिशिर सिन्हा ने कही ये बातें
 

आज सोमवार को अनुग्रह नारायण (ए.एन) कॉलेज, पटना के पुस्तकालय सभागार में व्याख्यान का आयोजन किया गया। कार्यक्रम की शुरुआत महाविद्यालय के प्रधानाचार्य प्रोफेसर एस.पी.शाही के स्वागत भाषण से हुआ।  पटना के पुस्तकालय सभागार में आयोजित सत्येंद्र नारायण सिन्हा व्याख्यानमाला की 21वीं कड़ी में 'हाउ बीपीएससी क्लीन्ड इट्स एक्ट' विषय पर बीपीएससी के पूर्व अध्यक्ष और बिहार विद्युत विनियामक आयोग के अध्यक्ष शिशिर सिन्हा ने अपना व्याख्यान प्रस्तुत किया। इस व्याख्यान में शिशिर सिन्हा ने कहा कि बीपीएससी में सुधार हेतु उन्होंने चार विभिन्न बिंदुओं पर अपना ध्यान केंद्रित किया।

शिशिर सिन्हा ने सर्वप्रथम कहा कि उन्होंने बीपीएससी की समस्याओं के समाधान के लिए उसके कार्यप्रणाली में कई सकारात्मक परिवर्तन किए ताकि उसकी कार्यप्रणाली निष्पक्ष एवं पारदर्शी तरीके से चलाई जा सके। साथ ही समय पर परीक्षा आयोजित करना, साक्षात्कार में पारदर्शिता एवं समय पर परीक्षा परिणाम प्रकाशन हेतु महत्वपूर्ण कदम उठाए। शिशिर सिन्हा ने इसके लिए बिहार के मुख्यमंत्री का विशेष तौर पर आभार व्यक्त किया, जिन्होंने उन्हें इस कार्य को करने के लिए पूरी स्वतंत्रता प्रदान की।

ए.एन कॉलेज

व्याख्यान के दौरान सिन्हा ने कहा कि प्रभार ग्रहण करने के समय उन्होंने देखा कि बीपीएससी की कई परीक्षाएं समय से पीछे चल रही हैं और बीपीएससी कई परीक्षाओं को संयुक्त रूप से आयोजित कर रहा था। साथ ही विभिन्न विभागों से समय पर रिक्तियां नहीं आ पाती थीं, जिसके कारण समय पर बहाली का  विज्ञापन प्रकाशित नहीं हो पाता था। अध्यक्ष बनने के उन्होंने कई महत्वपूर्ण कदम उठाए जिसका लाभ यह मिला कि अब बीपीएससी की परीक्षाएं समय पर संचालित होने लगी हैं और उसके परीक्षा परिणाम भी समय पर आने लगे हैं। उनकी इस कार्यप्रणाली की चर्चा न केवल देश के अन्य लोक सेवा आयोगों में हुई बल्कि संघ लोक सेवा आयोग ने भी उनकी कार्यप्रणाली की सराहना की। वहीं उन्होंने कहा कि चयन प्रक्रिया में पारदर्शिता आने से आज विद्यार्थियों के मन में यह भरोसा है की सफल होने के लिए केवल और केवल प्रतिभा ही मायने रखती है।

ए.एन कॉलेज

वहीं प्रधानाचार्य प्रोफेसर एस.पी.शाही ने कहा कि अनुग्रह बाबू तथा सत्येंद्र बाबू के आशीर्वाद से ए .एन कॉलेज लगातार प्रगति कर रहा है। इसमें महाविद्यालय के सभी शिक्षकों, शिक्षकेतर कर्मचारियों तथा विद्यार्थियों का महत्वपूर्ण योगदान है। महाविद्यालय के आइक्यूएसी के प्रयासों से विद्यार्थियों के लिए कई शैक्षणिक कार्यक्रम आयोजित किए गए हैं। कार्यक्रम का संचालन एस.एन. सिंहा मेमोरियल लेक्चर के संयोजक प्रो.कलानाथ मिश्र ने किया। वहीं धन्यवाद ज्ञापन डॉ रत्ना अमृत ने किया। इस अवसर पर प्रोफेसर शबनम ठाकुर, महाविद्यालय आइक्यूएसी के कोऑर्डिनेटर डॉ अरुण कुमार, प्रोफेसर अजय कुमार, प्रोफेसर अरुण कुमार सिंह, प्रोफेसर शम्भू नाथ मिश्रा, डॉ. सुभाष प्रसाद सिंह, डॉ. नूपुर बोस, प्रोफेसर शैलेश कुमार सिंह, प्रोफेसर तृप्ति गंगवार, समेत महाविद्यालय के अनेक शिक्षक, विद्यार्थीगण तथा कर्मचारी उपस्थित रहे।

Patna: A.N कॉलेज में मनाया गया NSS दिवस- https://newshaat.com/bihar-local-news/assembly-speaker-vijay-kumar-sinha-convened-a-meeting/cid5340556.htm