Movie prime
ज्ञानेंद्र सिंह ज्ञानू ने MU मामले में राजभवन को बताया दोषी, कहा- कुलपति को हटाने को लेकर आदेश जारी किया जाए
राजभवन के कारण ही ऐसे भ्रष्टाचार में लिप्त लोगों को बड़े संस्थान की जिम्मेदारी सौंप दी जाती है
 

बिहार विशेष निगरानी ( एसयूवी) की टीम ने मगध विश्वविद्यालय (एमयू) के कुलपति राजेंद्र प्रसाद के विभिन्न ठिकानों पर बुधवार को छापेमारी की। इस छापेमारी के दौरान उनके आवास से करोड़ो रुपये बरामद हुए। जांच में यह भी सामने आया है कि एमयू के लिए कागजों में 86 गार्ड तैनात किए गए थे, जबकि वहां पर केवल 47 ही कार्यरत मिले। मालूम हो कि राजेन्द्र प्रसाद के खिलाफ 420, 120ई के साथ-साथ भ्रष्टाचार अधिनियम में मुकदमा दर्ज किया गया है। अब इसे लेकर बिहार में राजनीति तेज हो गई है। एनडीए सरकार की सहयोगी भाजपा के विधायक ज्ञानेंद्र सिंह ज्ञानू ने इस पूरे प्रकरण पर अपनी प्रतिक्रिया दी है। उन्होंने इस पूरे प्रकरण के लिए राजभवन को जिम्मेदार ठहराया है। 

भाजपा विधायक ने राजभवन पर दोष मंडते हुए कहा कि राजभवन के कारण ही ऐसे करप्ट और भ्रष्टाचार में लिप्त लोगों को एक बड़े संस्थान की जिम्मेदारी सौंप दी जाती है। भाजपा विधायक ने कहा कि राजभवन के अधिकारियों की गलती के कारण ऐसे सम्मानित जगहों को भी लोग अब संशय की नजर से देख रहे हैं। ज्ञानू ने कहा कि जो लोग इसके लिए सरकार को जिम्मेदार ठहरा रहे हैं, उन्हें यह समझना चाहिए कि यूनिवर्सिटी के कुलपति की नियुक्ति में सरकार की भूमिका नहीं है। यह सारी नियुक्ति राजभवन से की जाती है। यह राजभवन की जिम्मेदारी है कि वह ऐसे भ्रष्ट लोगों कि नियुक्त को रोकें। लेकिन, अफसोस इस बात का है कि राजभवन से इस बात को पूरी तरह दरकिनार किया जा रहा है। विश्वविद्यालयों में ऐसे लोगों की नियुक्ति हो रही है, जो भ्रष्टाचार में लिप्त हैं।

Ad

भाजपा विधायक ने कहा कि आज बिहार में कोई भी विश्वविद्यालय ऐसा नहीं है, जहां के कुलपति और रजिस्ट्रार की स्वच्छ छवि हो। राजभवन के अधिकारियों के कारण राज्यपाल के पद की गरिमा को भी नुकसान पहुंचाया जा रहा है। उन्होंने कहा सवाल उठाया है, " इस बड़ी छापेमारी के बाद भी राजभवन से मगध यूनिवर्सिटी के कुलपति को हटाने को लेकर कोई आदेश जारी नहीं हुआ है। जबकि खुद बिहार के शिक्षा मंत्री इस संबंध में दो बार कुलपति को हटाने की मांग कर चुके हैं।  जब सारी चीजें सामने स्पष्ट हो चुकी है फिर भी उन्हें पद से क्यों नहीं हटाया जा रहा है? "

MU के कुलपति के घर छापेमारी में करोड़ों की संपत्ति जब्त- https://newshaat.com/bihar-local-news/property-worth-crores-seized-in-mu-vice-chancellors-house/cid5780163.htm

देखिए, तेजप्रताप का वीडियो- https://youtu.be/FMxjF-YpSDo