Movie prime
तेजस्वी यादव और मीसा भारती के खिलाफ केस की जांच शुरू
 

पटना के कोतवाली थाने में नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव और राजद सांसद मीसा भारती के खिलाफ दर्ज कराए गए केस की जांच अब शुरू हो गई है। पैसे लेकर टिकट नहीं देने के मामले में तेजस्वी, मीसा भारती के साथ-साथ कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष मदन मोहन झा, प्रवक्ता राजेश राठौड़ और स्व सदानंद सिंह के बेटे शुभानंद मुकेश के ऊपर केस दर्ज किया गया है। इन नेताओं के ऊपर करोड़ों की ठगी का आरोप है। इस कड़ी में कोतवाली पुलिस की ओर से मुकदमा दर्ज कराने वाले वकील संजीव सिंह को नोटिस भेजा गया है।

दरअसल, संजीव सिंह नाम के एक शख्स ने खुद को बिहार कांग्रेस का प्रभारी पर्यवेक्षक और वकील बताते हुए पटना की अदालत में 18 अगस्त को एक परिवाद दायर किया था। इस परिवाद में आरोप लगाया गया था कि भागलपुर से लोकसभा का टिकट देने के बदले उसने 5 करोड़ रुपये दिए थे लेकिन टिकट दूसरे को दे दिया गया। आरोप लगाने वाले संजीव सिंह के मुताबिक 15 जनवरी 2019 को उसने 5 करोड़ रुपए दिए थे लेकिन टिकट नहीं मिला। अदालत ने इस परिवाद पर सुनवाई के बाद 31 अगस्त को फैसला रिजर्व रख लिया था। वहीं 16 सितंबर को इस मामले पर फैसला सुनाते हुए पटना के एसएसपी के माध्यम से कोतवाली थाना में प्राथमिकी दर्ज करने का आदेश दिया। कोर्ट के आदेश पर 22 सितंबर को तेजस्वी समेत अन्य के खिलाफ कोतवाली थाने में केस दर्ज हुआ था।

वहीं अब कोतवाली प्रभारी सुनील कुमार सिंह ने बताया कि जांच की कड़ी में वकील को नोटिस देकर कोतवाली बुलाया गया है। उनके आने के बाद पुलिस उनसे यह जानकारी लेगी कि उन्होंने 5 करोड़ रुपए कब और कहां दिए। पैसा नकद दिया था या फिर ऑनलाइन। पैसा देने का प्रमाण क्या है। रकम देने के वक्त कौन-कौन लोग मौजूद थे। वकील को पैसा देने से जुड़े सबूत देने होंगे। कोतवाली थाना प्रभारी के मुताबिक मुकदमा करने वाले पक्ष के वकील संजीव को नोटिस भेजा गया है। अगर वे इस नोटिस पर नहीं आएंगे तो फिर उन्हें दोबारा नोटिस भेजा जाएगा। उनके आने के बाद हकीकत का पता चलेगा कि सही मायने में मामला क्या है। 

तेजस्वी, मीसा समेत इन सभी नेताओं पर गिरी गाज- https://newshaat.com/bihar-local-news/fir-on-all-these-leaders-including-tejashwi-misa/cid5073357.htm