Movie prime
जूनियर डॉक्टरों की हड़ताल देर रात खत्म, इन शर्तों को लेकर हुई काम पर वापसी
 

पीएमसीएच सहित सूबे के 9 मेडिकल कॉलेज अस्पतालों के हड़ताल पर बैठे जूनियर डॉक्टरों की हड़ताल खत्म हो गई है। जूनियर डॉक्टरों की हड़ताल करने के साथ ही इन अस्पतालों में ओपीडी सुविधाएं सामान्य रूप से बहाल हो सकी। बिहार स्वास्थ्य विभाग के अपर सचिव कौशल किशोर के आश्वासन के बाद इस स्ट्राइक को वापस लिया गया। स्वास्थ्य विभाग के अपर सचिव कौशल किशोर के साथ डॉक्टरों की बातचीत की मध्यस्थता पीएमसीएच के अधीक्षक डॉ. एस ठाकुर कर रहे थे।

बातचीत के बाद स्वास्थ्य विभाग की तरफ से जूनियर डॉक्टरों को प्रोत्साहन राशि दिए जाने के संबंध में एक आदेश पास किया गया। साथ ही इंटर्न के स्टाइपेंड को बढ़ाने के लिए 15 जनवरी, 2022 तक का समय मांगा गया है। मांगों को लेकर स्वास्थ्य विभाग की तरफ मिली आश्वासन के बाद जूनियर डॉक्टर्स और इंटर्न ने हड़ताल खत्म करने का ऐलान किया। हड़ताल खत्म करने के बाद सोमवार रात 10 बजे सभी डॉक्टर वापस काम पर लौटे। हालांकि, इसके बाद उन्होंने चेतावनी भी दी कि अगर निर्धारित समय सीमा के भीतर उनकी मांगों को पूरी नहीं की जाती है तो वह फिर से हड़ताल पर जाने के लिए बाध्य होंगे।

पीएम

गौरतलब है कि अपनी पांच सूत्री मांगों को लेकर जूनियर डॉक्टर्स स्ट्राइक पर थे। इनकी मांगों में कोविड द्वितीय वेव  में प्रोत्साहन राशि, इंटर्न स्टाइपेंड में वृद्धि, बॉन्ड में स्टडी लीव के प्रावधान को नियमावली में शामिल करना, नीट पीजी काउंसलिंग कराने में राज्य द्वारा केंद्र सरकार से पहल करना, नीट पीजी में देरी से उत्पन्न डॉक्टरों की कमी को दूर करने के लिए नॉन एकेडमिक जूनियर रेजिडेंट की बहाली शामिल है। 

मांझी के सलाह पर CM का जवाब, कहा- शराब इम्पॉसिबल है- https://newshaat.com/bihar-local-news/cms-answer-on-manjhis-advice-said-alcohol-is-impossible/cid6074372.htm