Movie prime
ब्राह्मण को मांझी की चुनौती, कहा- एक बार नहीं बार-बार बोलूंगा
 

पूर्व मुख्यमंत्री और हम पार्टी के प्रमुख जीतन राम मांझी ने एक बार फिर से बयान जारी कर ब्राह्मण समाज को गाली दिए जाने के ममाले में सफाई दी है। उन्होंने कहा कि वह किसी के मन को चोट नहीं पहुंचाना चाहते थे। हमने उस व्यवस्था के बारे में चर्चा की है जो पहले थी। जीतन राम मांझी का कहना है कि हमने अपने बयान में कहा था कि उन लोगों से पूजा नहीं कराएं जो लोग दलितों के घर खाना नहीं खाते हैं। 

मांझी सफाई देने के दौरान ही ब्राह्मण और ब्राह्मण वाद के बीच का अंतर समझाने लगे। उन्होंने कहा, " जब मैं ब्राह्मण समाज को कुछ बुरा बोला ही नहीं हूं। उसके बावजूद ब्राह्मण समाज के लोगों के मन में इतना उबाल है। मैंने तो दो बार माफी भी मांग ली है। " इसके बाद मांझी ने कहा कि उन्होंने अपमानजनक शब्द उन ब्राह्मण के लिए बोला है जो दारु शराब पीते हैं, मांस मछली खाते हैं, पढ़ने लिखने नहीं आता है। मांझी ने कहा उनको मैं फिर से कह रहा हूं कि एक बार नहीं सैकड़ों बार उनको हरामी कहूंगा। 

वहीं मांझी ने उस बयान का भी जवाब दिया जिसमें मांझी के जीभ काटने की बात की गई थी। मांझी ने कहा कि इस मुद्दे पर हमारे समाज के लोग देखेंगे। मैं कुछ नहीं कहूंगा कोई मेरा जीभ काटे मैं देखता रहूंगा। मैं डरने वाला नहीं हूं। मांझी एक बार फिर से ब्राह्मण पर टिप्पणी देते हुए कहा कि मैं ब्राह्मण नहीं बल्कि ब्राह्मणवाद के खिलाफ हूं और आगे भी रहूंगा। मैं सनातन धर्म को मानता हूं। मैं ब्राह्मणवाद का विरोध करता हूं। चाहे मेरी जान ही क्यों ना चली जाए। मैं डरने वाला नहीं हूं। मैं अपने समाज के लोगों को बताऊंगा कि ऐसे ब्राह्मणवाद से डरने की जरूरत नहीं है। 

पहले तेजप्रताप और अब तेजस्वी को है CM की यात्रा से दिक्कत- https://newshaat.com/bihar-local-news/first-tej-pratap-and-now-tejashwi-has-problem-with-cms/cid6086418.htm