Movie prime
32 साल पुराने अपहरण मामले में जेल से बाहर आएंगे पप्पू यादव, कोर्ट ने किया बरी
 

जन अधिकार पार्टी (जाप) के राष्ट्रीय अध्यक्ष और पूर्व सांसद पप्पू यादव को को 32 साल पुराने अपहरण केस में मधेपुरा कोर्ट ने बरी कर दिया है। इस मामले में पप्पू यादव पिछले करीब 4 महीने से न्यायिक हिरासत में डीएमसीएच के मेडिसिन आईसीयू में इलाजरत हैं। पप्पू यादव ने कोर्ट के इस फैसले पर आभार प्रकट किया है। साथ ही जनता को अपनी हिम्मत बताया। वहीं अपर जिला एवं सत्र न्यायाधीश सह विशेष अदालत निशिकांत ठाकुर ने पप्पू यादव को साक्ष्य के अभाव में रिहा करने के आदेश दिया।

मधेपुरा रवाना होने के दौरान एम्बुलेंस से ही पप्पू यादव ने कहा कि मीडिया के सवालों का जवाब दिया। उन्होंने कहा कि उन्हें कोर्ट और जनता पर पूरा भरोसा है। उन्होंने कहा कि जनता के भरोसे पर उन्हें न्याय जरूर मिलेगा। वहीं, जन अधिकार पार्टी युवा के जिलाध्यक्ष विश्वम्भर यादव ने कहा कि पप्पू यादव को राजनीतिक साजिश के तहत जेल में बंद रखा गया है। पिछले कई महीनों से पप्पू यादव एक छोटे से कमरे में बंद हैं और अब वह जनता के बीच जाने के लिए तड़प रहे हैं। 

इधर उपचुनाव की घोषणा के समय पप्पू यादव का बरी होना उनकी पार्टी और समर्थकों के लिए बड़ी बात है। अब चर्चा यह भी है कि वह तारापुर से विधानसभा का उप चुनाव भी लड़ सकते हैं। हालांकि, पप्पू यादव ने ऐसी किसी भी बात की पुष्टि अब तक नहीं की है। वहीं मधेपुरा कोर्ट के फैसले के बाद पप्पू यादव ने ट्वीट कर कहा, " इंसाफ हुआ, षड्यंत्र बेनकाब हुआ। जनता के आशीर्वाद से आज बाइज्जत बरी हो गया। साबित हो गया फर्जी मुकदमा में मुझे कैद किया गया था। न्यायालय के प्रति आभार! मैं रुकूंगा नहीं, झुकूंगा नहीं, थकूंगा नहीं, लड़ता रहूंगा! आज से फिर संघर्ष पथ पर आगे बढूंगा।" 


बता दें, पप्पू यादव को अपहरण के एक मामले में पुलिस ने पटना से गिरफ्तार किया था। जिस मामले में पप्पू यादव को गिरफ्तार किया गाय था वह करीब 32 साल पुराना है। 1989 में पप्पू यादव, रामकुमार यादव और उमाकांत यादव एक साथ रहते थे। गुट के ही एक युवक ने एक लड़की से शादी कर ली थी।  इस कारण पप्पू यादव का रामकुमार यादव और उमाकांत यादव से मतभेद हो गया था। मतभेद के बाद 9 जनवरी 1989 को रामकुमार यादव के चचेरे भाई शैलेन्द्र यादव ने मुरलीगंज थाना में शिकायत दर्ज कराते हुए बताया था कि पप्पू यादव ने दिनदहाड़े रामकुमार यादव और उमाकांत यादव को जान से मारने की नीयत से अपहरण कर लिया। 

CM नीतीश कुमार का जनता दरबार शुरू, इन विभाग की शिकायत सुनेंगे- https://newshaat.com/bihar-local-news/cm-nitish-kumars-public-court-begins-will-listen-to-the/cid5393497.htm