Movie prime
बिहार में सरकारी स्कूलों पर बढ़ा लोगों का भरोसा, शिक्षा मंत्री ने जताई खुशी
 

बिहार में सरकारी स्कूलों पर लोगों का भरोसा बढ़ा है। यह खुलासा शिक्षा की वार्षिक स्थिति का पता लगाने वाली रिपोर्ट में हुआ है। इस रिपोर्ट के अनुसार, देश में कोरोनावायरस के बाद भी सरकारी स्कूल में 6-14 आयु वर्ग के बच्चों के नामांकन में पिछले एक साल में 3.6% वृद्धि हुई है। वहीं इस रिपोर्ट को लेकर राज्य के शिक्षा मंत्री विजय कुमार चौधरी ने कहा कि यह रिपोर्ट शिक्षा विभाग और सरकार के लिए अच्छी खबर है। उन्होंने कहा कि स्कूलों में दाखिला लेने वाले लोगों की संख्या बढ़ी है। 

शिक्षा मंत्री ने कहा, " सरकारी स्कूल में लोगों का भरोसा बढ़ा है तो यह अच्छी बात है। हम इसका स्वागत करते हैं। " उन्होंने सरकारी स्कूल से जुड़े सभी शिक्षकों को बधाई दी। साथ ही उन्होंने सरकारी स्कूल के शिक्षकों से अपील की कि आने वाले समय में शिक्षा का स्तर और अपना व्यवहार इस तरह बनाए रखें कि लोगों का विश्वास सरकारी स्कूल में दिन-प्रतिदिन बढ़ता जाए। वहीं उन्होंने शिक्षक नियोजन प्रणाली पर बोलते हुए कहा कि पंचायत चुनाव की प्रक्रिया के कारण यह काम रूकी हुई थी। लेकिन उसे हमलोग फिर से शुरू करेंगे।

गौरतलब है कि शिक्षा को लेकर जो रिपोर्ट जारी की गई उसमें सरकारी स्कूलों में नामांकित बच्चों की संख्या 2020 में 76.9% थी। जो 2021 में बढ़कर 80.5% हो गई। 2018 से पिछले तीन वर्षों में 2.8% की वृद्धि हुई है। इस रिपोर्ट से यह भी पता चलता है कि 2018 और 2021 के बीच निजी स्कूलों की तुलना में ग्रामीण पृष्ठभूमि के अधिक बच्चों ने सरकारी स्कूलों में प्रवेश लिया है। बता दें कि ये रिपोर्ट इस साल सितंबर और अक्टूबर के बीच 25 राज्यों और 3 केंद्र शासित प्रदेशों के 581 जिलों के ग्रामीण क्षेत्रों में किए गए सर्वेक्षण पर आधारित थी। हालांकि, सरकारी स्कूलों की हकीकत कुछ और ही है। खासकर कोरोना के दौरान जहां निजी स्कूल भी बंद थे वहां सरकारी स्कूल में बच्चों की उपस्थित को लेकर जो आंकड़ा सामने आया है वह बेहद चौंकाने वाला है। 

PM मोदी के फैसले पर CM का बयान, कहा- " हम कुछ बोल नहीं सकते "- https://newshaat.com/bihar-local-news/cms-statement-on-pm-modis-decision-said-we-cannot-speak/cid5786749.htm