Movie prime
CM के समाज सुधार अभियान पर RJD का तंज, कहा- बिहारवासियों के साथ मजाक कर रही है सरकार
 

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार आज समाज सुधार अभियान के मद्देनजर मुजफ्फरपुर में मौजूद रहेंगे। नीतीश कुमार के इस अभियान को लेकर विपक्ष लगातार मुख्यमंत्री पर हमलावर है। वहीं इस आज मुख्यमंत्री के मुजफ्फरपुर यात्रा से पहले राष्ट्रीय जनता दल ने इस अभियान को लेकर नीतीश कुमार पर निशाना साधा है। 

दरअसल, मुजफ्फरपुर में बालिका गृहकांड हुआ था। लेकिन अभी तक इसके आरोपियों को सजा नहीं मिल पाई है। चर्चित बालिका गृहकांड जहां मासूम बच्चियों के साथ दरिंदगी की गई। एक ओर सरकार बेटी पढ़ाओ-बेटी बढ़ाओ की बात करते हैं वहीं इतने बड़े मामले में अब तक कोई फैसला नहीं हुआ है। वहीं अन्य जगहों से भी लगातार ऐसी घटनाएं सामने आती रहती हैं। ऐसे में मुख्यमंत्री के आज की यात्रा को लेकर विपक्ष हमलावर है। 

राजद ने ट्वीट करते हुए कहा, " बिहार भर के बालिका गृहों और अल्पावास गृहों में बच्चियों व महिलाओं का निरन्तर बलात्कार करनेवालों को लगातार सरकारी संरक्षण देनेवाले मुख्यमंत्री 'समाज सुधार' यात्रा पर निकले हैं! बिहारवासियों के विवेक और बुद्धिमत्ता के साथ इससे बड़ा मज़ाक संभव है? " 

वहीं राजद के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष शिवानंद तिवारी ने भी मुख्यमंत्री की यात्रा को लेकर प्रतिक्रिया दी है। राजद नेता ने कहा कि मुख्यमंत्री शराब का बोतल पकड़ने के लिए बिहार में टूर कर रहे हैं। लोग हंस रहे हैं कि बिहार असेंबली में खाली शराब की बोतलें मिल रही है और बिहार के शीर्ष पदाधिकारी डीजीपी और नीतीश बाबू शराब की बोतल ढूंढने में लगे हैं। शिवानंद तिवारी ने तीखा व्यंग्य करते हुए कहा कि यह भी एक तरह की मानसिक बीमारी है और मुझे लगता है नीतीश कुमार के अंदर जो नशा है वह शराब से भी ज्यादा खतरनाक है।

यहां आपको बता दें कि नीतीश कुमार की शराबबंदी कानून को चीफ जस्टिस ऑफ इंडिया ने अदूरदर्शी करार दिया है। जस्टिस रमना ने कहा कि इसके कारण कोर्ट में मुकदमों का ढेर लग गए हैं। वहीं शिवानंद तिवारी ने जस्टिस रमना की बात का समर्थन करते हुए कहा कि न्यायालयों पर पहले से इतना बोझ है तीन लाख मुकदमा पेंडिंग है। लोगों को न्याय नहीं मिल पा रहा है, फैसले लंबित पड़े है और अब शराब के मुकदमे से यह बोझ और बढ़ गया है।

शिवानंद तिवारी

राजद नेता ने कहा कि पटना के एक होटल में शराब के आरोप में लड़का लड़की पकड़े जाते हैं तो तुरंत उनको जेल भेज दिया जाता है। उनके भविष्य के बारे में भी नहीं सोचा जाता। यह सब काउंसलिंग का मामला है। शिवानंद तिवारी ने कहा कि शराब मामले में सबसे ज्यादा गरीब ही पकड़े जाते हैं। बिहार में गरीबी दूर नहीं कर रहे हैं। सिर्फ शराब पकड़ने में लगे हैं। नीतीश कुमार का नशा शराब के नशे से भी खराब है। 

बता दें कि मुख्यमंत्री आज अपने समाज सुधार अभियान के तीसरे चरण के अंतर्गत मुजफ्फरपुर के एमआईटी कैंपस में सभा को संबोधित करेंगे। इस दौरान मुख्यमंत्री नीतीश कुमार दहेज प्रथा एवं बाल-विवाह उन्मूलन, नशा मुक्ति, शराबबंदी, महिला सशक्तिकरण जैसे मुद्दों पर लोगों को जागरुक करेंगे। 

पटनावासी नए साल पर नहीं घूम सकेंगे पार्क- https://newshaat.com/bihar-local-news/patna-residents-will-not-be-able-to-roam-the-park-on-the/cid6124201.htm