Movie prime
अटल बिहारी वाजपेयी के व्यक्तित्व से हमें प्रेरणा लेनी चाहिए: आरसीपी सिंह
 

केंद्रीय इस्पात मंत्री आरसीपी सिंह ने आज दिल्ली के विज्ञान भवन में 'अटल सम्मान समारोह' कार्यक्रम के दौरान अलग-अलग क्षेत्रों में अपना योगदान देने वाले विजेताओं को अटल सम्मान प्रदान किया। इस दौरान आरसीपी सिंह ने कहा कि हमें अटल बिहारी वाजपेयी के व्यक्तित्व से प्रेरणा लेनी चाहिए। उन्होंने कहा, " अटल जी ने जय जवान, जय किसान के साथ जय विज्ञान को जोड़ कर भारत को एक नई दिशा और दृष्टि दी है। अटल जी के समय में जल, थल और आकाश तीनों में भारत ने अपनी सैन्य शक्ति को मजबूत किया और कारगिल में दुश्मनों को करारा जवाब दिया। आज विज्ञान के क्षेत्र में भारत विश्व के अग्रणी देशों में जाना जाता है।" 

कार्यक्रम

केंद्रीय मंत्री ने कहा कि बिहार में गंगा नदी पर पुलों के निर्माण और विशेषकर कोसी पुल के निर्माण में अटल बिहारी वाजपेयी के मार्गदर्शन का बहुत बड़ा योगदान है। वह राजनेता, कवि और बुद्धिजीवी होने के साथ-साथ एक अच्छे प्रशासक भी थे जो सोच को जमीनी स्तर पर लागू करना जानते थे। उन्होंने अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर हिंदी को एक नई पहचान दिलाई। ऐसे लोग जो बात बात पर हिंदी जानने के बाद भी अंग्रेजी का प्रयोग करते हैं उन्हें अटल बिहारी वाजपेयी से सीख लेनी चाहिए। 

केंद्रीय मंत्री

आरसीपी सिंह ने कहा, " स्वर्णिम चतुर्भुज और अन्य योजनाओं के माध्यम से भारत में सड़क और रेल मार्गों में अभूतपूर्व परिवर्तन का दौर अटल जी के समय में प्रारंभ हुआ। इसे प्रधानमंत्री मोदी जी के कार्यकाल में एक नई गति मिली है। अटल जी से पहले के समय में यात्री रेल गाड़ी की औसत गति 20 किलोमीटर प्रति घंटा थी, जो अब 175 किलोमीटर है। बिहार में 200 लोगो के गांव तक भी अब बारहमासी सड़क है। " 

निगरानी विभाग के एसपी को मिली धमकी- https://newshaat.com/bihar-local-news/surveillance-departments-sp-received-threats-on-the-other/cid6098321.htm