Movie prime
लोकसभा और राज्यसभा की कार्यवाही अनिश्चितकाल के लिए स्थगित
 

लोकसभा और राज्यसभा की कार्यवाही की बुधवार को अनिश्चितकाल के लिए स्थगित कर दी गई. जी हां सुबह 11 बजे जैसे ही सदन की कार्यवाही आरंभ हुई, सभापति एम वेंकैया नायडू ने आवश्यक दस्तावेज सदन के पटल पर रखवाए. इसके बाद विपक्ष के नेता मल्लिकार्जुन खड़गे ने एक अखबार की खबर का हवाला देकर अयोध्या से संबंधित एक मुद्दा उठाने की कोशिश की लेकिन नायडू ने उन्हें इसकी अनुमति नहीं दी.

fgfg

इतना ही नहीं सभापति एम वेंकैया नायडू ने मल्लिकार्जुन खड़गे से कहा कि मुद्दे को उठाने के लिए उन्हें नोटिस देना चाहिए था. इसके बाद उन्होंने सदन की कार्यवाही अनिश्चितकाल के लिए स्थगित कर दी. वैसे बता दे संसद का शीतकालीन सत्र 29 नवंबर को शुरू हुआ था और यह 23 दिसंबर को समाप्त होना था. लेकिन एक दिन पहले ही उच्च सदन की बैठक अनिश्चितकाल के लिए स्थगित कर दी गई. 

वैसे बता दे शीतकालीन सत्र में पूरे समय विपक्षी सांसदों के निलंबन का मुद्दा छाया रहा. इस मुद्दे पर विपक्षी सांसदों के हंगामे के कारण कई बार सदन को स्थगित किया गया. कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी समेत तमाम विपक्षी दलों के नेता सरकार पर आरोप लगाते दिखे कि उन्हें संसद में जनता से जुड़े मुद्दों पर चर्चा की इजाजत नहीं दी गई. विपक्ष ने किसानों के मुद्दे, कृषि बिल, महंगाई, लखीमपुर खीरी, पेगासस, न्यूनतम समर्थन मूल्य जैसे मुद्दों पर सदन में चर्चा की लगातार मांग की. विपक्ष का आरोप है कि सरकार की तरफ से उनकी मांगों को सिरे से खारिज कर दिया गया. विपक्ष पूरे सत्र के दौरान गृह राज्य मंत्री अजय कुमार मिश्रा की बर्खस्तगी पर अड़ा रहा. इसके अलावा विपक्ष की तरफ से सदन में सीमा सुरक्षा बल के दायरे को बढ़ाए जाने के मुद्दे पर भी चर्चा की मांग की गई.

Read more at: https://newshaat.com/bihar-local-news/in-the-meeting-of-nitish-cabinet-13-agendas-were-stamped/cid6080939.htm