Movie prime
आज सिंधु बॉर्डर पर 32 संगठनों की होगी बैठक, एमएसपी और बिजली का उठा सकते हैं मुद्दा
 

कल प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश के नाम अपने संबोधन में तीनों कृषि कानूनों को वापस लेने का ऐलान कर दिया. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा की गई इस घोषणा के बाद दिल्ली की सीमाओं पर आंदोलन कर रहे किसान संगठनों ने जमकर जश्न मनाया. लेकिन किसान फिलहाल आंदोलन को खत्म करने की बात से इनकार कर रहे हैं. अब इसे लेकर शनिवार को सिंघु बॉर्डर पर जत्थे बंदियों की अहम बैठक होने वाली है. 

आपको बता दे कि सिंघु बॉर्डर पर आज दोपहर होने हो रही बैठक में राकेश टिकैत शामिल नही होंगे. आज पंजाब के जत्थेबंदियों की बैठक होगी। इसमे 32 संगठनों के प्रतिनिधि शामिल होंगे. उससे पहले 9 सदस्यों की कमेटी की बैठक होगी. इतना ही नहीं संयुक्त किसान मोर्चा की कल 21 नवंबर को आम बैठक होगी. जिसमें सभी 42 संगठनों के प्रतिनिधि शामिल होंगे. 

huyjii

वैसे बता दे आपको तीन कानूनों के वापसी के ऐलान के बाद अब किसानों ने एमएसपी और बिजली का मुद्दा उठा दिया है. संयुक्त किसान मोर्चा ने सरकार को याद दिलाया है कि न्यूनतम समर्थन मूल्य और बिजली अध्यादेश संशोधन विधेयक की वापसी भी अभी बाकी है. इतना ही नहीं अभी तक किसान और सरकार पक्ष के बीच करीब 11 दौर की चर्चाएं हो चुकी हैं, लेकिन उस दौरान किसी ठोस मुद्दे पर सहमति नहीं बन सकी थी. 

PM मोदी के फैसले पर CM का बयान, कहा- " हम कुछ बोल नहीं सकते "- https://newshaat.com/bihar-local-news/cms-statement-on-pm-modis-decision-said-we-cannot-speak/cid5786749.htm