पश्चिम बंगाल में सियासत की जंग जारी. मुस्लिमों से ममता बनर्जी का अनुरोध बने रहें हमारे सांथ

  • द्वारा

पश्चिम बंगाल की सियासत अभी तेज धूप की तरह पक्ष और विपक्ष के माथें पर मंडरा रही है. यहां पर लोकसभा चुनाव के बाद से बीजेपी और टीएमसी के नेताओं के बीच गहमा गहमी और उठापटक का माहौल बना हुआ है. यहां पर कभी बीजेपी के नेता ममता बनर्जी को सुधरने की नसीहत दे रहे हैं तो कभी बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी उनको सीधे धमकी देती नजर आ रही हैं.

बता दें कि बुधवार को एक बार फिर ममता बनर्जी ने भाजपा पर हमला बोलते हुए धार्मिक भावनाएं भड़काने का आरोप लगाया है. उन्होंने एक नारा में कहा है कि जो हमसे टकराएगा वो चूर-चूर हो जाएगाण. जिसके बाद से राजनीतिक प्लेटफाॅर्म पर उथल पुथल मचा हुआ है, एक दूसरे के बीच जूबानी हमला का खेल जारी है. ममता ने कोलकाता के रेड रोड पर ईद की नमाज अदा करने के बाद मुसलमानों से कहा कि उनकी लड़ाई में वह साथ दें.

बनर्जी ने कहा कि त्याग का नाम है हिंदू, ईमान का नाम है मुस्लिम, प्यार का नाम है ईसाई, सिखों का नाम है बलिदान, ये है हमारा प्यारा हिंदुस्तान. इसकी रक्षा हमलोगों को ही करनी होगी. उन्होंने कहा कि यहां की जनता को डरने की कोई बात नहीं है, मुद्दई लाख बुरा चाहे तो क्या होता है, वही होता है जो मंजूरे खुदा होता है. हमेशा पार्टी के साथ आप लोग खरे रहेंगे यही आपसे आशा है हमारी.

ममता बनर्जी ने एक के बाद एक शायरी बोलते हुए कहा कि, कई बार जब सूरज निकलता है तो उसकी किरणें मनुष्य को छाएं में जाने पर मजबूर कर देती है.