Movie prime
मनरेगा घोटाले में IAS पूजा सिंघल के पूर्व पति भी संदेह के घेरे में
 


आय से अधिक संपत्ति और मनरेगा घोटाला मामले में झारखंड की वरिष्ठ आइएएस अधिकारी और खनन विभाग की सचिव पूजा सिंघल शुक्रवार से ही चर्चा में छाई हुई हैं. उनके 25 ठिकानों पर ईडी की ताबड़तोड़ छापेमारी चल रही है. उनसे जुड़े लोगों के ठिकानों पर शनिवार को भी प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) की छापेमारी जारी है. यहीं नहीं आईएएस पूजा सिंघल की मुसीबतें और भी बढ़नेवाली है. ईडी का शिकंजा और कसता जा रहा है. मनी लाउंड्रिंग केस में भी फंसती दिख रही हैं. पूजा सिंघल के पति, भाई, पति के सीए सुमन कुमार और अन्य लोगों के करीब दो दर्जन ठिकानों पर कार्रवाई जारी है. छापेमारी में करोड़ों रुपये नकद के साथ ही बेनामी संपत्ति के कई कागजात बरामद किए गए. अब इस मामले में सीए सुमन कुमार को ईडी ने गिरफ्तार कर लिया है. पहले ईडी ने सुमन को पूछताछ के लिए हिरासत में लिया था. इसके बाद उनकी गिरफ्तार हुई है।वहीँ पूजा सिंघल के पूर्व पति आइएएस अधिकारी राहुल पुरवार भी अब जांच के दायरे में आ सकते हैं.वह पूजा सिंघल की कई प्रापर्टी में पार्टनर बताए जा रहे हैं.

जानकारी के अनुसार, ईडी की टीम शनिवार सुबह से ही छापेमारी में जुटी है। पूजा सिंघल के दूसरे पति अभिषेक झा के रांची स्थित पल्स अस्पातल को सुरक्षा बलों ने घेर रखा है. यहां ईडी की टीम दस्तावेजों को खंगाल रही है. सुरक्षा के कड़े प्रबंध किए गए हैं. अस्पताल परिसर में किसी को आने-जाने की इजाजत नहीं है. दूसरे दिन की छापेमारी में अस्पताल से क्या क्या चीजें ईडी को हाथ लगी हैं, अभी इसका खुलासा होना बाकी है.

खबर के अनुसार आईएएस अधिकारी पूजा सिंघल से जुड़े तीन मामले हैं. आय से अधिक संपत्ति, अवैध खनन और मनरेगा घोटाला. ईडी ने शुक्रवार को पूजा सिंघल से जुड़े 18 से ज्यादा ठिकानों पर छापेमारी की है. इसमें ज्यादातर छापेमारी झारखंड में हुई है. 19 करोड़ कैश ईडी ने  जब्त किया है. जबकि पूजा सिंघल के सीए के यहां से 17 करोड़ कैश मिला है. बता दें कि झारखंड कैडर की वरिष्ठ आईएएस अधिकारी पूजा सिंघल को झारखंड के मुख्‍यमंत्री हेमंत सोरेन का करीबी माना जाता है. पूजा सिंघल वर्तमान में खान और भूविज्ञान विभाग की सचिव और झारखंड राज्य खनिज विकास निगम लिमिटेड की प्रबंध निदेशक हैं. 

पूजा सिंघल पर आरोप है कि रेत खनन के लिए ठेके पसंद के ठेकेदारों को दे रही थीं. उनपर मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन एवं उनके भाई एवं विधायक बसंत सोरेन को कौड़ी के भाव खान का आवंटन करने का आरोप है. इस मामले में इलेक्शन कमीशन ऑफ इंडिया की तरफ से हेमंत एवं उनके भाई को नोटिस जारी हुआ है और जवाब देने के लिए कहा गया है. हेमंत पर खनन लीज पर पद का लाभ का आरोप है. पूजा सिंघल के बारे में आपको बता दें कि वो 2000 बैच की आईएएस अधिकारी हैं. उनका चयन सिर्फ 21 वर्ष में ही सिविल सर्विसेज में हो गया है. सबसे कम उम्र में आईएएस बनने के कारण है उनका नाम लिम्का बुक ऑफ रिकॉर्ड्स में भी दर्ज है. 

मालूम हो कि झारखंड में पहले भी ईडी की छापेमारी होती रही है, लेकिन यह पहला मौका है जब किसी सीए के पास से इतनी बड़ी रकम बरामद हुई है। ईडी के अधिकारी शुक्रवार से ही यह जानने की कोशिश में लगे थे कि इतनी बड़ी रकम कहां से आई और किसकी है. 

झारखंड की आईएएस अधिकारी पूजा सिंघल पर ED की कार्रवाई के बाद अब बिहार में भी भ्रष्ट अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई की मांग उठने लगी है. जीतन राम मांझी की पार्टी हिन्दुस्तानी आवाम मोर्चा ने बिहार में भी भ्रष्टाचार में लिप्त अधिकारियों पर सख्त कार्रवाई करने की मांग की है. सरकार की सहयोगी पार्टी HAM ने अपनी ही सरकार से बिहार के भ्रष्ट अधिकारी के खिलाफ कार्रवाई की मांग की है.