Movie prime
लालू राज पर सवाल उठानेवाले अमित शाह पर बरसे तेजस्वी, कहा - उन्हें कुछ भी नजर नहीं आता है
 

बिहार में वीर कुंवर सिंह की जयंती पर एक सियासी होड़ लगी हुयी है है . होड़ इस बात की है कि किसने वीर कुंवर सिंह को सबसे ज्यादा सम्मान दिया. वीर कुंवर सिंह की जयंती पर भारतीय जनता पार्टी ने भोजपुर जिले के जगदीशपुर में बड़ा आयोजन किया जिसमें गृह मंत्री अमित शाह ने भी शिरकत की. वहीं नीतीश कुमार ने भी वीर कुंवर की स्मृति में अपनी सरकार के कार्य गिनाए. नीतीश के दावों पर राष्ट्रीय जनता दल की ओर से तेजस्वी यादव ने पलटवार किया है.

veer kunwar singh jayanti security arrangement for amit shah in jagdishpur  bhojpur bihar news skt | वीर कुंवर सिंह किला की सुरक्षा SPG के हवाले,  क्राइम ब्रांच व खुफिया एजेंसी तैनात, ड्रोन

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने वीर कुंवर सिंह की जयंती पर श्रद्धांजलि अर्पित की. सीएम नीतीश ने कहा कि उनकी सरकार ने वीर कुंवर सिंह का हमेशा सम्मान किया है. उनके नाम पर विश्वविद्यालय और गंगा नदी पर पुल का निर्माण कराया है. वीर कुंवर सिंह के नाम पर एक कृषि विश्वविद्यालय भी खोला गया है. नीतीश ने बाद में ये भी जोड़ा कि विश्वविद्यालय पहले से है. सीएम नीतीश के इसी दावे को लेकर विधानसभा में विपक्ष के नेता तेजस्वी यादव ने जवाबी हमला बोल दिया. आरजेडी नेता तेजस्वी यादव ने मुख्यमंत्री के दावों पर सवाल उठाए. उन्होंने ट्वीट करके कहा कि वीर कुंवर सिंह का सबसे ज्यादा सम्मान आरजेडी ने किया है. तेजस्वी यादव ने लिखा कि 1992 में लालू प्रसाद यादव के मुख्यमंत्री रहते आरा में वीर कुंवर सिंह विश्वविद्यालय की स्थापना हुई थी. उन्होंने कहा कि आरा और छपरा को जोड़ने वाले वीर कुंवर सिंह सेतु का निर्माण भी 2017 में हुआ जब उनकी सरकार थी.

वहीं शनिवार को जिस तरह से गृह मंत्री अमित शाह ने जगदीशपुर में वीर कुंवर सिंह जयंती के दौरान लालू राबड़ी के शासन के जंगलराज का जिक्र किया. उसको लेकर भी तेजस्वी यादव ने जवाबी हमला  किया है. नेता प्रतिपक्ष ने कहा कि मुझे लगता है कि उन्हें कुछ भी नजर नहीं आता है. कल वह जहां से अपनी बात कह रहे थे. उसी जगह के थाने में वीर कुंवर सिंह के पड़पौत्र की हत्या कर दी गई थी. वह हमारे शासन पर सवाल उठा रहे हैं.

तेजस्वी यादव ने कहा कि अमित शाह जिस जिले से भाषण दे रहे थे. बाबू वीर कुंवर सिंह की प्रतिमा वे माल्यार्पण कर रहे थे. उन्हें के वंशज की थाने में हत्या कर दी गई. इस पर उन्होंने चुप्पी क्यों साध ली. इसके साथ ही उन्होंने कहा कि बिहार की जनता को यह उम्मीद थी कि वे महंगाई के मुद्दे पर भी कुछ बोलेंगे लेकिन वे चुप रहे.

राजस्थान  के पारिवारिक कार्यक्रम से लौटे तेजस्वी यादव ने पटना एयरपोर्ट पर मीडियाकर्मियों से बातचीत के दौरान कहा कि मुझे लगा था कि गृह मंत्री बिहार आ रहे हैं तो 19 लाख रोजगार देने को लेकर कुछ घोषणा करेंगे। महंगाई पर बात  करेंगे. बिहार के विशेष राज्य पर कुछ कहेंगे, लेकिन इन सभी विषयों पर उन्होंने एक शब्द भी नहीं कहा. 

तेजस्वी यादव ने कहा वीर कुंवर सिंह के परिवार के लोगों की हत्या की गई है. उनके पौत्रवधू को प्रतिमा पर माला चढ़ाने से रोक दिया गया। यह  सभी ने देखा है. पटना पहुंचने के बाद सीधे आरा रवाना हुए तेजस्वी ने कहा कल जो कार्यक्रम हुआ . यह सिर्फ दिखावा था. वहीँ लालू प्रसाद की  तबीयत पर बात करते हुए तेजस्वी ने कहा उनकी तबीयत फिलहाल ठीक है. फिलहाल, डॉक्टरों के निगरानी  में हैं.जैसा डॉक्टर के निर्देश  होंगे. उसके अनुसार आगे का फैसला लिया जायेगा.

गौरतलब है कि शनिवार को आरा के जगदीशपुर में कंद्रीय मंत्री वीर कुंवर सिंह विजयोत्सव के दौरान लालू- राबड़ी के शासन काल पर सवाल उठाया था. उन्होंने कहा कि क्या आप लोग इस शासनकाल को भूल सकते हैं. जिस तरह बिहार में अपराधिक घटनाएँ घट रही थीं थीं. पानी-बिजली की कोई व्यवस्था नहीं थी. अमित शाह के इन बयानों पर अब तेजस्वी ने पलटवार किया है.