Movie prime
अग्निपथ योजना को लेकर उपेंद्र कुशवाहा ने केंद्र सरकार से कहा- एक बार इसपर करें विचार
 

अग्निपथ योजना को लेकर बिहार में विरोध देखने को मिल रहा है. बुधवार को जहां अभ्यर्थियों ने बक्सर, मुजफ्फरपुर और आरा में जमकर बवाल किया तो वहीं गुरुवार को भी बिहार के कई जिलों में बवाल देखने को मिला. वहीं इस योजना को लेकर जदयू संसदीय बोर्ड के अध्यक्ष उपेंद्र कुशवाहा ने इस योजना को लेकर केंद्र सरकार से इसपर फिर से विचार करने को कहा है. 

Upendra Kushwaha's strongly worded resignation letter: Full text

आपको बता दें कि उपेंद्र कुशवाहा ने अग्निपथ योजना पर सवाल उठाते हुए ट्वीट किया है. उन्होंने अपने ट्वीट में लिखा कि, सेना, नौसेना और वायुसेना में भर्ती को लेकर प्रस्तावित बदलाव #Agnipath, #Agniveers योजना पर भारत सरकार को पुनर्विचार करना चाहिए.

बता दें  उपेंद्र कुशवाहा के पहले लोजपा रामविलास के राष्ट्रीय अध्यक्ष चिराग पासवान ने रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह को एक पत्र लिखा। इस पत्र में चुराग ने राजनाथ सिंह को अग्निपथ योजना पर विचार करने को कहा है. चिराग ने अपने पत्र में लिखा कि, इस योजना के तहत देश के वैसे युवाओं जिनकी उम्र 17.5 से 21 वर्ष तक है उनकी बहाली चार वर्षों तक के लिए सेना में की जाएगी. जबकि सेना में भर्ती के लिए जो पुरानी प्रक्रिया थी उसके तहत देश के युवाओं ने लगातार तैयारी की थी और कर भी रहे हैं लेकिन इस योजना से युवाओं में काफी आक्रोश है और बिहार समेत अन्य राज्यों में उग्र प्रदर्शन कर रहे हैं. 

इतना ही नहीं आगे उन्होंने लिखा कि, इस योजना से देश में बेरोजगारी और बढ़ेगी साथ ही युवाओं में असंतोष बढ़ेगा. अग्निवीरों की बहाली सिर्फ चार वर्ष के लिए की जा रही है और उसके बाद सभी अग्निवीरों में से सिर्फ 25 प्रतिशत को ही भारतीय सेना में स्थायी सेवा की स्वीकृति दी जायेगी और अन्य को कुछ चिहित राज्यों में नौकरी में प्राथमिकता दी जायेगी. इससे भविष्य में देश में बेरोजगारी चरम पर होगा जो कि देश के लिए एक बहुत बड़ी चिंता का विषय होगा. इसलिए इस योजना पर एक बार विचार किया जाए.

chirag paswan surrounded nitish kumar government over death due to  poisonous liquor in bihar said i will raise matter in parliament - बिहार  में जहरीली शराब से मौत पर चिराग पासवान ने