Movie prime
सरकारी कर्मचारी की लेट लतीफी अब नहीं चलेगी, होगा एक्शन
 

बिहार में सरकारी कार्यालयों में देर से आने वाले अफसर और कर्मचारी की लेट लतीफी अब नहीं चलेगी. समय पर नहीं पहुंचे तो तत्काल कार्रवाई होगी। जी हां  राज्य सरकार ने प्रखंड, जिला, प्रमंडल और मुख्यालय स्तर के सभी दफ्तरों में तैनात कर्मियों को समय पर आने को लेकर सख्त दिशा-निर्देश जारी किया है. जो कर्मी समय पर नहीं आयेंगे, सजा के तौर पर उनकी आधे दिन की छुट्टी काटी जाएगी। सरकार के इस फैसले से आमजनों को काफी राहत मिलेगी. अभी सरकारी दफ्तरों में आधा घंटा लेट आना सामान्य बात है और एक घंटे तक की देरी को कर्मी अपना हक मानते हैं. आम जनों ने इसे लगभग स्वीकार कर लिया है कि सरकारी दफ्तरों में 11 बजे से पहले जाने पर समय बर्बाद होता है. इसे देखते हुए सरकार ने यह सख्त कदम उठाया है.

सरकारी कर्मचारी की ताज़ा खबरे हिन्दी में | ब्रेकिंग और लेटेस्ट न्यूज़ in  Hindi - Zee News Hindi

सामान्य प्रशासन विभाग के प्रधान सचिव डॉ. बी राजेन्दर ने सभी डीएम, प्रमंडलीय आयुक्त से लेकर डीजीपी और सभी विभागों के प्रमुखों को इस आदेश का पालन पूरी सख्ती से कराने का निर्देश दिया है. वहीं, कर्मियों के लिए बॉयोमेट्रिक से अटेंडेंस बनाना भी जरूरी कर दिया गया है. एक घंटा लेट ऑफिस आने वाले कर्मचारियों की आधे दिन की छुट्टी उनके सीएल से काट ली जाएगी। इससे ऑफिस की व्यवस्था बेहतर होगी. इतना ही नहीं अगर कोई कर्मचारी लगातार लेट ऑफिस आएंगे तो संबंधित सक्षम प्राधिकार उनके खिलाफ अनुशासनिक कार्रवाई करेंगे. हालांकि जारी किए गए दिशा निर्देश में ये बात भी कही गई है कि किसी इमरजेंसी की स्थिति में सक्षम प्राधिकार से पहले परमिशन लेकर कोई भी कर्मचारी या पदाधिकारी महीने में अधिकतम दो दिन लेट ऑफिस आ सकते हैं.