Movie prime
BJP नेता राम सागर की दो टूक, कहा -लालू यादव की धमकी से जब सीबीआई नहीं डरी थी तो तेजस्वी किस खेत की मूली हैं
 

आईआरसीटीसी घोटाले में बिहार के उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव को मिली जमानत रद्द करने की सीबीआई की मांग के दो दिन बाद राजद नेता ने सोमवार को दोहराया कि सभी केंद्रीय जांच एजेंसियां- सीबीआई, प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) और आयकर विभाग उनके आवास पर कार्यालय खोल सकते हैं. उन्होंने यह भी दावा किया कि भाजपा पूरी विश्वसनीयता खो चुकी है और अब उन्हें घेरने के लिए केंद्रीय एजेंसियों का उपयोग करने की कोशिश कर रही है क्योंकि पार्टी को 2024 के लोकसभा चुनाव हारने का डर है.

तेजस्वी के इस बयां पर भाजपा प्रवक्ता डॉ राम सागर सिंह ने उप मुख्यमंत्री तेजस्वी यादव पर कटाक्ष करते हुए कहा है कि वे चोरी भी करते हैं और सीनाजोरी भी करते हैं. आईआरसीटीसी घोटाले में तेजस्वी की जमानत ख़ारिज करने संबंधी सीबीआई की अर्जी के मामले में रामसागर सिंह ने तेजस्वी पर निशाना साधा. उन्होंने कहा कि यह घोटाला उस समय का है जब तेजस्वी को मूंछ भी नहीं आया था. बिना मूंछ के दौर में करोड़ों की संपत्ति बनाने वाले तेजस्वी को अब मूंछ आ गया है तो वे घोटाले की जांच कर रही सीबीआई को धमकी दे रहे हैं. 

उन्होंने कहा कि तेजस्वी यादव सीबीआई को धमका रहे हैं. लेकिन उनकी धमकी से सीबीआई डरेगी नहीं. तेजस्वी यादव को समझ लेना चाहिए कि जहां जहां भ्रष्टाचारी है, वहां वहां सीबीआई है. भ्रष्टाचार उनके परिवार के लोग करेंगे तो सीबीआई भी तेजस्वी के परिवार के पास ही जायेग. जब तेजस्वी बिना मूंछ के थे तो उनके पिता लालू यादव ने तेजस्वी को अरबों रुपए की सम्पत्ति का मालिक बनाने के साथ साथ उन्हें भ्रष्टाचारी भी बना दिया.

तेजस्वी के पिता लालू यादव रेलमंत्री रहते जमीन दो नौकरी लो, जमीन दो होटल लो का खेल खेले तो सीबीआई भी पकड़ने का अपना खेल खेलेगी ही. अब तेजस्वी को मूंछ हो गया हे तो सीबीआई को धमका रहे हैं. उन्हें याद रखना चाहिए कि सीबीआई जब ने जब तेजस्वी के पिताजी को नही छोड़ा तो तेजस्वी को कहां छोड़ेगी। लालू यादव पहले आरोपी थे और अब सजायाफ्ता हो गए. वैसे ही अब आज तेजस्वी आरोपी हैं तो कल सजायाफ्ता हो सकते हैं. लालू यादव की धमकी से जब सीबीआई नहीं डरी थी तो तेजस्वी किस खेत की मूली हैं.