Movie prime
वन अग्नि प्रबंधन पर आयोजित राष्ट्रीय कार्यशाला में शामिल हुए केंद्रीय राज्यमंत्री नित्यानंद राय और अश्विनी चौबे
 

भारत में वन अग्नि प्रबंधन पर आज एक परामर्शी कार्यशाला का आयोजन किया गया. इस कार्यशाला का आयोजन प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के द्वारा आग के खतरों की रोकथाम के लिए देश में विविध वन इकोसिस्टम में जंगलों की आग के क्षरण को काफ़ी हद तक कम करने संभावित आग का समय पता लगाने और आग से लड़ने के लिए वन कर्मियों और संस्थानों की क्षमताओं को बढ़ाने तथा आग लगने की घटना के बाद बचाव के लिए तेजी से काम करने की आवश्यकता पर कार्य करने के निर्देश के आलोक में किया गया था.

केंद्रीय गृह राज्यमंत्री नित्यानंद राय इस कार्यशाला को संबोधित करते हुए बताया कि  प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी  ने नवम्बर, 2016 को आपदा न्यूनीकरण पर एशियाई मंत्रियों के सम्मेलन में आपदा जोखिम में कमी पर दस सूत्री एजेंडा दिया है. वह किसी भी प्रकार की आपदा प्रबंधन के लिए महामंत्र है. प्रधानमंत्री द्वारा दिए गए 10सूत्र में आपदा न्यूनीकरण प्रबंधन के सिद्धांतों को आत्मसात करना. जोखिम से सभी को उबारने की दिशा में काम. अधिक से अधिक जन भागीदारी. विश्व स्तर पर जोखिम मानचित्रण में निवेश, दक्षता बढ़ाने के लिए प्रौद्योगिकी का उपयोग. विश्वविद्यालयों का एक नेटवर्क  सोशल मीडिया और मोबाइल तकनीकी का इस्तेमाल स्थानीय क्षमता और पहल का निर्माण आपदा प्रबंधन को लेकर अर्जित किये ज्ञान का सदुपयोग और अंतरराष्ट्रीय स्तर पर अधिक से अधिक सामंजस्य शामिल हैं. नित्यानंद राय ने प्रशंसा करते हुए कहा कि माननीय गृहमंत्री अमित शाह  द्वारा लगातार समीक्षा तथा मार्गदर्शन से आपदा प्रबंधन व्यवस्था को मजबूत करने के प्रयास को काफ़ी बल मिलता है. 

 वहीं इस कार्यशाला में माननीय केंद्रीय राज्य मंत्री (पर्यावरण, वन एवं जलवायु परिवर्तन मंत्रालय)  अश्विनी कुमार चौबे डीजी-सह-विशेष सचिव पर्यावरण  वन एवं जलवायु परिवर्तन मंत्रालय डॉ. सी. पी. गोयल  सदस्य एवं प्रभारी सचिव एनडीएमए  कमल किशोर  एनडीएमए के अन्य सदस्य कृष्ण एस. वत्स और ले. जनरल (रि.) सय्यद अता हसनैन, एनडीएमए के संयुक्त सचिव (नीति एवं योजना)कुनाल सत्यार्थी जी समेत गृह मंत्रालय एनडीएमए वायु सेना वन एवं जलवायु परिवर्तन मंत्रालय एनडीआरएफ फायर सर्विस सिविल डिफेंस और होम गार्ड्स भारतीय मौसम विभाग राज्यों के प्रतिनिधि में सम्मलित हुए. एनडीएमए और पर्यावरण वन एवं जलवायु परिवर्तन मंत्रालय ने सभी हितधारकों के साथ मिलकर भारत में वन अग्नि प्रबंधन पर आज इस परामर्शी कार्यशाला का आयोजन किया .