Movie prime
देवी काली पर जारी पोस्टर विवाद के बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने दिया बड़ा बयान
 

देवी काली पर जारी पोस्टर विवाद के बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बड़ा बयान दिया है. उन्होंने कहा कि मां काली पूरे भारत की भक्ति का केंद्र हैं. उनका आशीर्वाद देश पर बना रहे. देश में मां काली के पोस्टर को लेकर चल रहे विवाद के बीच प्रधानमंत्री का यह पहला बयान है. दरअसल, पीएम मोदी रविवार को स्वामी आत्मस्थानंद के शताब्दी समारोह को संबोधित कर रहे थे. इस दौरान उन्होंने मां काली को लेकर भी चर्चा की.

प्रधानमंत्री ने कहा, स्वामी रामकृष्ण परमहंस, एक ऐसे संत थे जिन्होंने मां काली का स्पष्ट साक्षात्कार किया था, जिन्होंने मां काली के चरणों में अपना सर्वस्व समर्पित कर दिया था. वो कहते थे- ये सम्पूर्ण जगत, ये चर-अचर, सब कुछ मां की चेतना से व्याप्त है. पीएम ने कहा, यह चेतना बंगाल की काली पूजा में दिखती है. यही चेतना बंगाल और पूरे भारत की आस्था में दिखती है और जब आस्था इतनी पवित्र होती है तो शक्ति हमारा पथ प्रदर्शन करती है. उन्होंने कहा, मां काली का असीमित और असीम आशीर्वाद भारत के साथ है. भारत इसी आध्यात्मिक ऊर्जा को लेकर आज विश्व कल्याण की भावना से आगे बढ़ रहा है. 

पीएम मोदी के भाषण के बाद भाजपा आईटी सेल के प्रमुख अमित मालवीय ने महुआ मोइत्रा पर निशाना साधा. उन्होंने ट्विटर पर लिखा, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी न केवल बंगाल बल्कि पूरे भारत को मां काली की भक्ति का केंद्र बताते हैं. दूसरी ओर, एक टीएमसी सांसद ने मां काली का अपमान किया. उन पर कार्रवाई के बजाय ममता बनर्जी उनका बचाव करती हैं.

बता दें की देवी काली पर विवादित बयानों को लेकर सियासत गरम है. इसके केंद्र में खासतौर से बंगाल है. राज्‍य में देवी का खास महत्‍व है. सत्‍तारूढ़ तृणमूल कांग्रेस की सांसद महुआ मोइत्रा ने हाल में देवी को लेकर विवादित बयान दिया था. उन्‍होंने मां काली को मांसाहारी और शराब पीने वाली देवी बताया था. इसके बाद बंगाल सहित पूरे देश में एक सुर में उनका विरोध हुआ. पहली बार टीएमसी भी बैकफुट पर दिखी. उसने मोइत्रा के बयान से किनारा कर लिया.