Movie prime
संजय जायसवाल के बयान पर अब उपेंद्र कुशवाहा ने कहा- हम उन्हें इग्नोर करके चलते है
 

अग्निपथ योजना के विरोध में बिहार के विभिन्न जिलों में हुए हिंसक उपद्रव के बीच बिहार एनडीए में घमासान मच गया है. बीजेपी ने जहां खुले तौर पर जेडीयू के ऊपर हमला बोल दिया है. तो वहीं जेडीयू भी वापस पलटवार के लिए उतर गई. जेडीयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष ललन सिंह ने बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष संजय जायसवाल पर करारा प्रहार किया है. ललन सिंह ने कहा है कि नीतीश कुमार गुड गवर्नेंस के लिए जाने जाते हैं और सरकार चलाने में उनका कोई जोड़ नहीं है. ललन सिंह ने यह भी कहा है कि संजय जायसवाल को अनुभव की कमी है. संजय जायसवाल मानसिक संतुलन खो बैठे हैं. संजय जायसवाल नहीं जानते हैं कि सरकार कैसे चलायी जाती है. वहीं अब जेडीयू के संसदीय बोर्ड के अध्यक्ष उपेंद्र कुशवाहा ने संजय जायसवाल के बयानों को बेमतलब करार दिया है.

upendra kushwaha vs sanjay jaiswal: उपेंद्र कुशवाहा और संजय जायसवाल में  तू-तू-मैं-मैं, चुप्प क्यों हैं नीतीश कुमार? Upendra Kushwaha aur Sanjay  Jaiswal me jubani hamla phir chup q hain ...

 

आपको बता दें कि संसदीय बोर्ड के अध्यक्ष उपेंद्र कुशवाहा ने कहा कि, परिवार में अगर कोई ज्यादा बोलने लगता है तो ऐसे लोगों को तरजीह नहीं दी जाती. कुशवाहा ने कहा कि संजय जायसवाल कोई पहली बार नहीं बोल रहे है. उनके बयानों का कोई मतलब नहीं है. शराबबंदी तक पर बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष सवाल उठा चुके हैं. लिहाजा अब हम उन्हें नोटिस में नहीं लेते और इग्नोर करके चलते हैं.

Upendra Kushwaha quits NDA and Union Cabinet, accuses PM Modi of betraying  backward classes | Mint

वैसे बता दें बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष संजय जायसवाल ने अग्निपथ बवाल को लेकर कहा कि, बिहार में प्रशासनिक मिलीभगत से उपद्रव कराया गया है. एक खास एजेंडे के तहत हंगामे को हवा दी गई है. बिहार में सुनियोजित ढंग से साजिश की गई है. अग्निपथ को लेकर हो रहे उपद्रव में प्रशासन की भूमिका अच्छी नहीं रही है. उपद्रवी हिंसा और आगजनी करते रहे लेकिन कहीं कोई लाठी चार्ज नहीं किया गया. कहीं भी आसूं गैस के गोले नहीं दागे गए. सुनियोजित और संगठित ठंग से विरोधी दलों के द्वारा एक खास एजेंडा के तहत बिहार को पूरे तौर पर तबाह करने की स्थिति तक लाकर रखा गया है यह सब पूरी योजना के तहत हो रहा है. 

इतना ही नहीं आगे संजय जायसवाल ने आगे कहा कि, जो कुछ बिहार में हो रहा है वह छात्रों के द्वारा नहीं हो रहा है. यह एक बड़ी साजिश है प्रशासन की भूमिका भी अच्छी नहीं है. बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष ने कहा कि 300 पुलिसकर्मियों के रहते नवादा के बीजेपी कार्यालय को जला दिया गया. कही ना कही प्रशासन की स्थिति ठीक नहीं है. प्रशासन एक्टिव नहीं रहेगा तो ऐसी घटनाएं होगी.

personal displeasure and sympathy weighed heavily on our hard work said sanjay  jaiswal asj | व्यक्तिगत नाराजगी और सहानुभूति पड़ी हमारी मेहनत पर भारी, बोले  संजय जायसवाल- हार की होगी ...